अमेरिका में उपलब्ध वैक्सीन की सारी डोज एकसाथ रिलीज करेंगे बाइडेन, UK ने मॉडर्ना की वैक्सीन को मंजूरी दी


अमेरिका में जल्द से जल्द ज्यादा लोगों तक वैक्सीन पहुंचाने के लिए प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन ने नया प्लान तैयार किया है। उन्होंने स्टॉक में रखे कोरोना वैक्सीन की सारी डोज एकसाथ रिलीज करने का आदेश दिया है। कहा कि वैक्सीन को स्टॉक करके बिल्कुल नहीं रखा जाएगा है। जैसे-जैसे वैक्सीन आती जा रही है उसे जरूरतमंद लोगों को लगाई जाए। बाइडेन ट्रांजिट टीम ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।
ट्रांजिट टीम के प्रवक्ता टीजे डक्लो ने बताया कि जरूरतमंद लोगों को तुरंत वैक्सीन लग सके इसके लिए यह फैसला लिया गया है। इससे सप्लाई चेन में कहीं से भी रूकावट नहीं होगी। इसके उलट ट्रम्प प्रशासन ने वैक्सीन के काफी डोज होल्ड करके रखने का आदेश दिया था। इसका मकसद था कि जिन्हें पहला डोज लगाया जा रहा है, समय रहते उन्हें दूसरा डोज भी लग सगे। वैक्सीन उपलब्ध न होने के चलते दूसरे डोज में देरी न हो सके। अमेरिकी सरकार के पास अभी 2 करोड़ 14 लाख से ज्यादा वैक्सीन के डोज उपलब्ध है। इनमें से 59 लाख 19 हजार लोगों को पहला डोज लगाया जा चुका है। पहला डोज लगने के 28 दिन बाद दूसरा डोज लगना है।

UK में मॉडर्ना को मंजूरी

अमेरिकी दवा कंपनी मॉडर्ना की कोरोना वैक्सीन को ब्रिटेन ने मंजूरी दे दी है। इसके एक करोड़ डोज का ऑर्डर भी दे दिया है। ब्रिटेन में ये तीसरी वैक्सीन है जिसे यूज के लिए यहां सरकार ने अप्रूवल दिया है। इसके पहले फाइजर और ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन का यहां यूज शुरू हो चुका है। ब्रिटेन मेडिकल रेगुलेटर ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

मॉडर्ना की वैक्सीन का एफिकेसी रेट 94.1% आया था। वैक्सीन लेने के बाद मरीजों को बुखार, सिरदर्द और थकान जैसी शिकायतें आई थीं, लेकिन ये बहुत खतरनाक नहीं हैं। ब्रिटेन में अब तक 12 लाख 96 हजार 432 लोगों को वैक्सीन लग चुका है। इनमें 21 हजार 313 लोग ऐसे भी हैं जिन्हें वैक्सीन का दोनों डोज लगाया जा चुका है।

कोरोना केस 8.86 करोड़

दुनिया में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 8.86 करोड़ से ज्यादा हो गया। 6 करोड़ 37 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक 19 लाख 09 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं। ब्रिटेन सरकार ने गुरुवार रात एक सख्त फैसला लिया। दूसरे देशों से आने वाले नागरिकों के लिए कोविड-19 टेस्ट जरूरी कर दिया है। इसके पहले कुछ शर्तों के साथ यह नियम लागू था।

ब्रिटेन सरकार का नया फरमान

लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट से बाहर आते पैसेंजर्स। ब्रिटेन सरकार ने गुरुवार को जारी आदेश में कहा है कि देश में आने वाले यात्रियों को अब तभी मंजूरी मिलेगी, जब वे 72 घंटे पहले की कोरोना निगेटिव रिपोर्ट सबमिट करेंगे। (फाइल)

ब्रिटेन की बोरिस जॉनसन सरकार ने गुरुवार रात जारी एक बयान में साफ कर दिया कि अब दूसरे देशों से आने वाले हर नागरिक को कोविड-19 टेस्ट से गुजरना ही होगा। इनमें ब्रिटिश नागरिक भी शामिल हैं। ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर ग्रांट शेप्स ने कहा- यह नियम सोमवार से लागू होगा। सिर्फ वही रिपोर्ट मान्य होंगी जो 72 घंटे पहले जारी की गई हों। इसमें यह भी ध्यान रखा जाएगा कि पैसेंजर किस देश से आया है। अगर अराइवल पर कोई व्यक्ति पॉजिटिव पाया जाता है तो उसे 10 दिन आइसोलेशन में रहना होगा।

ब्राजील में मरने वालों का आंकड़ा 2 लाख के पार
ब्राजील में गुरुवार को संक्रमण की दूसरी लहर का सबसे घातक रूप सामने आया। यहां मरने वालों का आंकड़ा 2 लाख के पार हो गया। ब्राजीलियन हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, यहां अब तक एक दिन में सबसे ज्यादा 87 हजार 843 मामले सामने आए। एक दिन में 1 हजार 524 लोगों की मौत भी हो गई। अब हेल्थ मिनिस्ट्री ने साफ कर दिया है कि किसी भी संक्रमित के आइसोलेशन पीरियड की सख्त निगरानी की जाएगी।

ब्राजील के साओ पाउलो में कब्रिस्तान की सफाई में जुटे कर्मचारी। देश में कोरोनावायरस से मरने वालों का आंकड़ा दो लाख के पार हो गया है। (फाइल फोटो)

6 से 12 महीने में फिर कराना होगा वैक्सीनेशन
ब्रिटेन के हेल्थ मिनिस्टर मैट हनूक ने कहा है कि पेशेंट्स को 6 से 12 महीने के बीच फिर वैक्सीनेशन कराना पड़ सकता है। हाउस ऑफ कॉमन्स की हेल्थ कमेटी के सामने बयान में हनूक ने कहा- हम फिलहाल ये नहीं कह सकते कि जो वैक्सीन लगाई जा रही है वो कितने वक्त तक कारगर रहेगी। एक अनुमान के मुताबिक, मरीजों को 6 से 12 महीने के बीच फिर वैक्सीनेशन कराना पड़ सकता है। ब्रिटेन सरकार ने वैक्सीन के दूसरे डोज को 12 हफ्ते बाद लगाने के फैसले का बचाव किया। कहा- इससे बाकी लोगों को पहला डोज आसानी से मिल जाएगा।

इजराइल का अहम ऐलान
इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि मार्च तक देश में 16 साल से ज्यादा के सभी उम्र वालों को वैक्सीनेट कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा- हमारे पास बेहतरीन हेल्थ सिस्टम है। हम चाहते हैं कि पहले वैक्सीन बुजुर्गों को मिले। हम अपने सिस्टम का इस्तेमाल करेंगे और मार्च तक 16 साल से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीनेट कर देंगे।

कोरोना प्रभावित टॉप-10 देशों में हालात

देश

संक्रमित मौतें ठीक हुए
अमेरिका 22,132,045 374,124 13,143,317
भारत 10,414,044 150,606 10,036,722
ब्राजील 7,961,673 200,498 7,096,931
रूस 3,332,142 60,457 2,709,452
UK 2,889,419 78,508 1,364,821
फ्रांस 2,705,618 66,565 198,756
तुर्की 2,296,102 22,264 2,172,251
इटली 2,220,361 77,291 1,572,015
स्पेन 1,982,544 51,430 N/A
जर्मनी 1,860,019 38,852 1,474,000

(आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं)

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


फोटो अमेरिका के न्यूजर्सी की है। यहां शुक्रवार से राज्य के पुलिसकर्मियों को वैक्सीन लगाई जाने लगी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *