50 रन के अंदर ऑस्ट्रेलिया के 2 विकेट गिरे, जो बर्न्स के बाद लाबुशेन भी पवेलियन लौटे


भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 4 टेस्ट की सीरीज का दूसरा मैच मेलबर्न में खेला जा रहा है। इस बॉक्सिंग-डे टेस्ट के तीसरे दिन टीम इंडिया ने पहली पारी में 326 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया टीम ने अपनी पहली पारी में 195 रन बनाए थे। इस लिहाज से भारत ने पहली पारी में 131 रन की बढ़त बना ली। इसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने एक विकेट गंवा दिया। फिलहाल, मैथ्यू वेड और स्टीव स्मिथ क्रीज पर हैं। मैच का स्कोरकार्ड देखने के लिए यहां क्लिक करें…

उमेश यादव ने ऑस्ट्रेलिया को पहला झटका दिया। उन्होंने जो बर्न्स को 4 रन पर पवेलियन भेजा। विकेटकीपर ऋषभ पंत ने बर्न्स का कैच लिया।

उमेश चोटिल होकर मैदान से बाहर
भारतीय तेज गेंदबाज उमेश यादव ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी के 8वें ओवर में चोटिल होकर मैदान से बाहर चले गए हैं। उन्होंने पैर में दर्द की शिकायत की। उमेश 3.3 ओवर ही गेंदबाजी कर सके और एक विकेट लिया। उनका ओवर मोहम्मद सिराज ने पूरा किया।

भारत ने लगातार दूसरे मैच में ऑस्ट्रेलिया पर बढ़त बनाई

टीम इंडिया ने सीरीज के पहले टेस्ट की पहली पारी में भी बढ़त ली थी। इस लिहाज से भारत ने 35 साल पुराने एक रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। 1985-86 में भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगातार दो टेस्ट की पारी में बढ़त बनाई थी। पहले एडिलेड टेस्ट ऑस्ट्रेलिया द्वारा बनाए गए 381 रन के जवाब में भारत ने 520 रन बनाए थे। जबकि मेलबर्न में खेले गए इसी सीरीज के दूसरे टेस्ट में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के 262 के स्कोर के जवाब में 445 रन बनाए थे। हालांकि दोनों मैच ड्रॉ हुए थे।

पहली पारी में बढ़त के साथ भारतीय टीम लगातार दो मैच नहीं हारी

  • भारतीय टीम एक सीरीज के लगातार दो टेस्ट कभी नहीं हारी है। जबकि उसने दोनों मैच की पहली पारी में बढ़त बनाई हो।
  • मेलबर्न के मैदान पर 100 से ज्यादा रन की बढ़त के साथ पिछली बार 2010 में ऑस्ट्रेलिया टीम इंग्लैंड को 89 रन से हराया था।
  • टीम इंडिया भी एक बार मेलबर्न में 100+ रन की बढ़त के साथ एक मैच जीत चुकी है। उसने 1980 में 182 रन की बढ़त के साथ ऑस्ट्रेलिया को 59 रन से हराया था।

कप्तान रहाणे का शतक
पहली पारी में भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे ने 223 बॉल पर सबसे ज्यादा 112 और ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा ने 159 बॉल पर 57 रन बनाए। शुभमन गिल 45 रन की पारी खेलते हुए डेब्यू मैच में फिफ्टी से चूक गए। ऑस्ट्रेलिया के लिए मिचेल स्टार्क ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए। उनके अलावा पैट कमिंस और नाथन लियोन को 2-2 सफलता मिली।

भारत ने पहले ओवर में विकेट गंवाया
सीरीज के पहले टेस्ट की तरह इस मैच में भी भारत की पहली पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी। मयंक अग्रवाल पारी के पहले ही ओवर में बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए थे। इसके बाद डेब्यू मैच खेल रहे शुभमन ने चेतेश्वर पुजारा के साथ 61 रन की पार्टनरशिप कर पारी को संभाला। यहां 64 रन पर टीम ने दो विकेट और गंवा दिए। शुभमन और पुजारा भी आउट हुए।

यहां से कप्तान रहाणे ने एक छोर को संभाले रखा। उन्होंने हनुमा विहारी के साथ चौथे विकेट के लिए 52 और ऋषभ पंत के साथ 5वें विकेट के लिए 57 रन की पार्टनरशिप की। इसके बाद रहाणे ने जडेजा के साथ छठवें विकेट के लिए सबसे जरूरी 245 बॉल पर 121 रन की पार्टनरशिप कर टीम का स्कोर 300+ तक पहुंचाया।

तीसरे दिन टीम इंडिया ने 33 रन बनाने 5 विकेट गंवाए
तीसरे दिन टीम इंडिया ने 5 विकेट पर 277 रन से आगे खेलना शुरू किया था। रहाणे और जडेजा ने शतकीय साझेदारी पूरी की, लेकिन एक रन लेने के चक्कर में रहाणे रनआउट हो गए। यह पारी का टर्निंग पॉइंट रहा। यहां से टीम संभल नहीं सकी। तीसरे दिन टीम इंडिया का स्कोर 293 रन पर 5 विकेट ही था। इसके बाद 32 रन बनाने में टीम ने 5 विकेट गंवा दिए।

रहाणे टेस्ट करियर में पहली बार रनआउट

रहाणे ने टेस्ट करियर की 12वीं सेंचुरी लगाई। वे अपने टेस्ट करियर में पहली बार रनआउट हुए। उन्होंने जडेजा के साथ छठवें विकेट के लिए 245 बॉल पर 121 रन की पार्टनरशिप की। जडेजा ने भी टेस्ट करियर की 15वीं फिफ्टी लगाई। ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर रहाणे का यह दूसरा शतक रहा। इससे पहले 2014 में बॉक्सिंग-डे टेस्ट में उन्होंने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) पर ही 147 रन की पारी खेली थी।

रहाणे ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाले 5वें भारतीय कप्तान

रहाणे टेस्ट में सेंचुरी लगाने वाले 12वें भारतीय कप्तान हैं। वहीं, ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट में शतक लगाने वाले 5वें भारतीय कप्तान हैं। रहाणे ने MCG में 2 शतक लगाए हैं। वे ऐसा करने वाले दूसरे भारतीय कप्तान हैं। इससे पहले पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने 1999/00 सीरीज में यह उपलब्धि हासिल की थी।

कप्तान रन ग्राउंड साल
मोहम्मद अजहरुद्दीन 106 एडिलेड 1991/92
सचिन तेंदुलकर 116 मेलबर्न 1999/00
सौरव गांगुली 144 गाबा 2003/04
विराट कोहली 115 और 141 एडिलेड 2014/15
विराट कोहली 147 सिडनी 2014/15
विराट कोहली 123 पर्थ 2018/19
अजिंक्य रहाणे 104* मेलबर्न 2020/21

शुभमन के नाम यह रिकॉर्ड

शुभमन ऑस्ट्रेलिया में डेब्यू कर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले तीसरे भारतीय प्लेयर बने। डेब्यू मैच की पहली पारी में उन्होंने 45 रन बनाए। सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड मयंक अग्रवाल के नाम है। उन्होंने 2018-19 में 76 रन बनाए थे।

बैट्समैन रन उम्र ग्राउंड साल
मयंक अग्रवाल 76 27 मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड 2018
दत्तू फड़कर 51 22 सिडनी क्रिकेट ग्राउंड 1947
शुभमन गिल 45 21 मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड 2020

स्टार्क के 250 विकेट पूरे

मिचेल स्टार्क ने 250 विकेट लेने के साथ ही एक रिकॉर्ड भी अपने नाम किया। वे ऑस्ट्रेलिया के सबसे कम गेंद में 250 विकेट लेने वाले गेंदबाज बने। इससे पहले यह रिकॉर्ड मिचेल जॉनसन के नाम था।

बॉलर 250 विकेट लेने के लिए गेंद फेंकी
मिचेल स्टार्क 11976
मिचेल जॉनसन 12578
डेनिस लिली 12722
ब्रेट ली 12961
ग्लेन मैक्ग्रा 13015

सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में स्टार्क 9वें नंबर पर

मिचेल स्टार्क टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों में 9वें नंबर पर हैं। दिग्गज स्पिनर शेन वॉर्न ने ऑस्ट्रेलिया की तरफ से सबसे ज्यादा 708 विकेट लिए हैं।

सबसे कम टेस्ट में 150 शिकार करने वाले विकेटकीपर बने पेन

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन सबसे कम टेस्ट में 150 शिकार करने वाले विकेटकीपर बन गए। उन्होंने 33 टेस्ट में यह मुकाम हासिल किया। इससे पहले यह रिकॉर्ड साउथ अफ्रीका के क्विंटन डी कॉक के नाम था।

विकेटकीपर देश टेस्ट
टिम पेन ऑस्ट्रेलिया 33
क्विंटन डिकॉक साउथ अफ्रीका 34
एडम गिलक्रिस्ट ऑस्ट्रेलिया 36
मार्क बाउचर साउथ अफ्रीका 38
रॉड मार्श ऑस्ट्रेलिया 39

ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 195 रन बनाए
ऑस्ट्रेलियाई टीम पहली पारी में 195 रन पर सिमट गई। ऑस्ट्रेलिया के लिए पहली पारी में मार्नस लाबुशेन ने सबसे ज्यादा 48 और ट्रेविस हेड ने 38 रन की पारी खेली। तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने 4 और स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने 3 विकेट लिए। डेब्यू मैच में मोहम्मद सिराज को 2 विकेट मिले।

यह क्रिकेट इतिहास में 5वीं बार है, जब ऑस्ट्रेलिया टीम बॉक्सिंग-डे टेस्ट के पहले दिन ऑलआउट हुई है। इससे पहले टीम 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट के पहले दिन 98 रन ही बना सकी थी।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


तेज गेंदबाज उमेश यादव चोटिल होकर मैदान से बाहर चले गए। वे 3.3 ओवर ही गेंदबाजी कर सके और एक विकेट लिया। उनका ओवर मोहम्मद सिराज ने पूरा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *