अयोध्या में 1100 करोड़ की लागत से बनेगा राममंदिर, साढ़े तीन साल में बनकर तैयार हो जाएगा


अयोध्या का राम मंदिर साढ़े 3 साल में बनकर तैयार हो जाएगा। मुख्य मंदिर समेत पूरा कॉम्प्लेक्स बनाने में करीब 11 सौ करोड़ रुपए का खर्च आएगा। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरि का अनुमान है कि मुख्य मंदिर बनाने में करीब 400 करोड़ का खर्च आ सकता है। उन्होंने कहा कि इस समय मंदिर ट्रस्ट के खाते करीब 100 करोड़ रुपए का डोनेशन जमा हो चुका है।

मकर सक्रांति से चलेगा धन संग्रह का अभियान
उन्होंने बताया कि अब मंदिर के लिए अनुमानित फंड की व्यवस्था की जानी है। इसके लिए मकर संक्रांति से धन संग्रह अभियान पूरे देश में चलेगा। इसमें करीब 60 करोड़ लोगों से संपर्क किया जाएगा। अभियान 27 फरवरी तक चलेगा।

उन्होंने बताया कि 29 दिसंबर को दिल्ली में होने जा रही बैठक में मंदिर की तकनीकी डिजाइन पर टेक्निकल एक्सपर्ट्स की टीम की रिपोर्ट पर चर्चा होगी। वहीं, मंदिर निर्माण में होने वाले खर्च पर भी चर्चा होगी।

प्राचीन पद्धति से रखी जाएगी मंदिर की नींव
अयोध्या में राममंदिर का निर्माण जारी है। दो हफ्ते पहले लोड टेस्टिंग के दौरान पिलर 2 से 5 इंच तक धंस गए थे। मंदिर की नींव की सतह पर 200 फीट नीचे पीली मिट्टी नहीं, रेत मिली है। नींव की मजबूती के लिए पाइलिंग टेस्ट किया जा रहा था और जब पिलर पर भार डाला गया तो वह धंस गया।

इसके बाद एक्सपर्ट कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि मंदिर की नींव का निर्माण अब 1200 भूमिगत खंभों के बजाय प्राचीन पद्धति से होगा। इसकी डिजाइन तय करने के लिए देश के टॉप-8 टेक्नोक्रेट्स की कमेटी ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। कमेटी की अध्यक्षता दिल्ली आईआईटी के पूर्व निदेशक वीएस राजू कर रहे हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


स्वामी गोविंद देव गिरि का अनुमान है कि मंदिर भवन के निर्माण में करीब 400 करोड़ का खर्च आ सकता है। (फाइल फोटो)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *