दूसरे दिन भारत का स्कोर 277/5, 82 रन की लीड; रहाणे का 12वां शतक


मेलबर्न में खेले जा रहे बॉक्सिंग-डे टेस्ट में दूसरा दिन खत्म होने तक भारतीय टीम ने 5 विकेट गंवाकर 277 रन बना लिए हैं। इसी के साथ भारत ने ऑस्ट्रेलिया पर 82 रन की बढ़त ले ली है। दूसरे दिन भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे ने अपने टेस्ट करियर की 12वीं सेंचुरी लगाई। ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर यह उनका दूसरा शतक रहा। इससे पहले 2014 में बॉक्सिंग डे टेस्ट में उन्होंने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) पर ही 147 रन की पारी खेली थी। मैच का स्कोरकार्ड देखने के लिए यहां क्लिक करें…

बारिश की वजह से अंपायर्स ने दूसरे दिन का खेल समय से पहले खत्म करने की घोषणा की। रहाणे 104 रन (200 बॉल) और रविंद्र जडेजा 40 रन (104 बॉल) बनाकर नाबाद रहे। दोनों के बीच 6वें विकेट के लिए 194 बॉल पर 104 रन की पार्टनरशिप भी हो चुकी है।

रहाणे ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाले 5वें भारतीय कप्तान

रहाणे टेस्ट में सेंचुरी लगाने वाले 12वें भारतीय कप्तान हैं। वहीं, ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट में शतक लगाने वाले 5वें भारतीय कप्तान हैं। रहाणे ने MCG में 2 शतक लगाए हैं। वे ऐसा करने वाले दूसरे भारतीय कप्तान हैं। इससे पहले पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने 1999/00 सीरीज में यह उपलब्धि हासिल की थी।

कप्तान रन ग्राउंड साल
मोहम्मद अजहरुद्दीन 106 एडिलेड 1991/92
सचिन तेंदुलकर 116 मेलबर्न 1999/00
सौरव गांगुली 144 गाबा 2003/04
विराट कोहली 115 और 141 एडिलेड 2014/15
विराट कोहली 147 सिडनी 2014/15
विराट कोहली 123 पर्थ 2018/19
अजिंक्य रहाणे 104* मेलबर्न 2020/21

रहाणे को 2 जीवनदान

मिचेल स्टार्क के 92वें ओवर में ट्रेविस हेड ने रहाणे का एक आसान कैच छोड़ दिया। पॉइंट पर खड़े ने डाइव लगाकर कैच लेने की कोशिश की, लेकिन बॉल उनके हाथ से छूट गई। उस वक्त रहाणे 100 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे थे। इससे पहले 81वें ओवर में भी स्टार्क की ही बॉलिंग पर स्टीव स्मिथ ने रहाणे का आसान कैच छोड़ा था। उस वक्त रहाणे 73 रन बनाकर बैटिंग कर रहे थे।

भारत ने 35 साल बाद ऑस्ट्रेलिया में लगातार 2 टेस्ट में बढ़त ली

भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस टेस्ट में 82 रन की बढ़त ली। इससे पहले एडिलेड में खेले गए डे-नाइट टेस्ट में भी भारत ने पहली पारी में बढ़त ली थी। टीम इंडिया ने 35 साल पहले के एक रिकॉर्ड को तोड़ा। 1985-86 में भारत ने एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट मैच में भी बढ़त ली थी। उसने ऑस्ट्रेलिया द्वारा बनाए गए 381 रनों के जवाब में 520 रन बनाए थे। वहीं, मेलबर्न में खेले गए इसी सीरीज के दूसरे टेस्ट में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के 262 के स्कोर के जवाब में 445 रन बनाए थे। दोनों मैच हालांकि ड्रॉ पर समाप्त हुए थे।

पंत 29 रन बनाकर आउट हुए

विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत 40 बॉल पर 29 रन बनाकर आउट हुए। स्टार्क ने उन्हें विकेटकीपर टिम पेन के हाथों कैच कराया। इस विकेट के साथ उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 250 विकेट पूरे किए। रहाणे और पंत ने 5वें विकेट के लिए 57 रन की पार्टनरशिप निभाई। ऑस्ट्रेलिया की ओर से स्टार्क और कमिंस ने 2-2 विकेट लिए। वहीं, लियोन को 1 विकेट मिला।

विहारी 21 रन बनाकर आउट हुए

दूसरे दिन भारत ने 1 विकेट (मयंक) पर 36 रन से आगे खेलना शुरू किया। चेतेश्वर पुजारा और शुभमन गिल ने दूसरे विकेट के लिए 61 रन की पार्टनरशिप की। शुभमन गिल 65 बॉल पर 45 रन बनाकर आउट हुए। वहीं, पुजारा ने 70 बॉल पर 17 रन बनाए। पैट कमिंस ने दोनों को विकेटकीपर टिम पेन के हाथों कैच कराया। इसके बाद रहाणे और हनुमा विहारी ने चौथे विकेट के लिए 52 रन की पार्टनरशिप निभाई। विहारी 21 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें स्पिनर नाथन लियोन ने स्टीव स्मिथ के हाथों कैच कराया।

स्टार्क के 250 विकेट पूरे

मिचेल स्टार्क ने 250 विकेट लेने के साथ ही एक रिकॉर्ड भी अपने नाम किया। वे ऑस्ट्रेलिया के सबसे कम गेंद में 250 विकेट लेने वाले गेंदबाज बने। इससे पहले यह रिकॉर्ड मिचेल जॉनसन के नाम था।

बॉलर 250 विकेट लेने के लिए गेंद फेंकी
मिचेल स्टार्क 11976
मिचेल जॉनसन 12578
डेनिस लिली 12722
ब्रेट ली 12961
ग्लेन मैक्ग्रा 13015

सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में स्टार्क 9वें नंबर पर

मिचेल स्टार्क टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों में 9वें नंबर पर हैं। दिग्गज स्पिनर शेन वॉर्न ने ऑस्ट्रेलिया की तरफ से सबसे ज्यादा 708 विकेट लिए हैं।

बॉलर (ऑस्ट्रेलिया) विकेट
शेन वॉर्न 708
ग्लेन मैक्ग्रा 563
नाथन लियोन* 392*
डेनिस लिली 355
मिचेल जॉनसन 313
ब्रेट ली 310
क्रेग मैक्डरमॉट 291
जेसन गिलेस्पी 259
मिचेल स्टार्क* 250*

सबसे कम टेस्ट में 150 शिकार करने वाले विकेटकीपर बने पेन

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन सबसे कम टेस्ट में 150 शिकार करने वाले विकेटकीपर बन गए। उन्होंने 33 टेस्ट में यह मुकाम हासिल किया। इससे पहले यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के साउथ अफ्रीका के क्विंटन डी कॉक के नाम था।

विकेटकीपर 150 शिकार के लिए टेस्ट खेले
टिम पेन 33 मैच
क्विंटन डी कॉक 34 मैच
एडम गिलक्रिस्ट 36 मैच
मार्क बाउचर 38 मैच
रॉड मार्श 39 मैच

शुभमन के नाम यह रिकॉर्ड

शुभमन ऑस्ट्रेलिया में डेब्यू कर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले तीसरे भारतीय प्लेयर बने। डेब्यू मैच की पहली पारी में उन्होंने 45 रन बनाए। सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड मयंक अग्रवाल के नाम है। उन्होंने 2018-19 में 76 रन बनाए थे।

बैट्समैन रन उम्र ग्राउंड साल
मयंक अग्रवाल 76 27 मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड 2018
दत्तू फड़कर 51 22 सिडनी क्रिकेट ग्राउंड 1947
शुभमन गिल 45 21 मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड 2020

ऑस्ट्रेलिया ने शुभमन के 2 कैच ड्रॉप किए

शुभमन को मैच में दो जीवनदान मिले। शनिवार को पहले दिन चौथे ओवर में कमिंस की बॉल पर लाबुशेन ने शुभमन का कैच ड्रॉप किया। उस वक्त वे 4 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे। इसके बाद आज 13वें ओवर में हेजलवुड की बॉल पर पेन ने उनका कैच छोड़ा। उस वक्त शुभमन 28 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे।

दूसरे दिन की पहली बॉल पर ऑस्ट्रेलिया ने रिव्यू गंवाया

दूसरे दिन की पहली ही गेंद पर पुजारा के खिलाफ ऑस्ट्रेलियाई टीम ने रिव्यू लिया। हालांकि, बैट और बॉल के बीच कोई संपर्क नहीं होने के कारण ऑस्ट्रेलिया ने यह रिव्यू गंवा दिया।

मयंक खाता नहीं खोल सके

पहली पारी में भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। पहले दिन ही बैटिंग करने उतरी भारतीय टीम को मयंक के रूप में पहला झटका लगा। स्टार्क ने मयंक (0) को LBW आउट किया। पहला दिन खत्म होने तक भारतीय टीम ने 1 विकेट गंवाकर 36 रन बनाए थे। इस लिहाज से टीम इंडिया पहले दिन ऑस्ट्रेलिया से 159 रन पीछे थी।

बुमराह ने 4 और अश्विन ने 3 विकेट लिए

ऑस्ट्रेलियाई टीम पहली पारी में 195 रन पर सिमट गई। ऑस्ट्रेलिया के लिए पहली पारी में मार्नस लाबुशेन ने सबसे ज्यादा 48 और ट्रेविस हेड ने 38 रन की पारी खेली। तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने 4 और स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने 3 विकेट लिए। डेब्यू मैच में मोहम्मद सिराज को 2 विकेट मिले।

यह क्रिकेट इतिहास में 5वीं बार है, जब ऑस्ट्रेलिया टीम बॉक्सिंग-डे टेस्ट के पहले दिन ऑलआउट हुई है। इससे पहले टीम 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट के पहले दिन 98 रन ही बना सकी थी।

बॉक्सिंग-डे टेस्ट: क्या मुक्केबाजी से है कोई कनेक्शन, कैसा रहा है भारतीय टीम का प्रदर्शन?

मैच में शुरुआत से पकड़ नहीं बना सकी ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत ही खराब रही थी। टीम ने 38 रन पर 3 विकेट गंवा दिए थे। इस दौरान जो बर्न्स और स्टीव स्मिथ खाता भी नहीं खोल सके। इसके बाद ट्रेविस हेड और मार्नस लाबुशेन ने पारी संभाली और चौथे विकेट के लिए 86 रन की पार्टनरशिप की। इसके बाद टीम पूरी तरह लड़खड़ाई और आखिरी 71 रन बनाने में 7 विकेट गंवा दिए।

बुमराह ने 4 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा

तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने ऑस्ट्रेलिया के 4 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा। पहला विकेट भी बुमराह ने ही लिया था। ओपनर जो बर्न्स बिना खाता खोले विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट हुए। उन्होंने टीम को चौथा झटका देते हुए ट्रेविस हेड को 38 रन पर आउट किया। अजिंक्य रहाणे ने उनका कैच लिया। बुमराह ने तीसरे विकेट के तौर पर मिचेल स्टार्क (7) को सिराज के हाथों कैच आउट कराया।

डेब्यू टेस्ट में सिराज को दो विकेट

तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने डेब्यू टेस्ट में दो विकेट लिए। उन्होंने मार्नस लाबुशेन (48) और कैमरून ग्रीन (12) को पवेलियन भेजा। लाबुशेन का कैच शुभमन गिल ने लिया। संयोग की बात है कि गिल का भी यह डेब्यू मैच में पहला कैच रहा। ग्रीन को सिराज ने LBW किया।

स्मिथ पहली बार भारत के खिलाफ खाता नहीं खोल सके

स्टीव स्मिथ पहली बार टीम इंडिया के खिलाफ बिना खाता खोले आउट हुए। अब तक उन्होंने इंडिया के खिलाफ 12 टेस्ट में 1431 रन बनाए। इसमें 7 शतक शामिल हैं। दो बार एक रन पर आउट हुए हैं। भारत के खिलाफ उनका बेस्ट स्कोर 192 रन है, जो उन्होंने 2014 में मेलबर्न में ही बनाया था।

मैच में डीन जोन्स को श्रद्धांजलि

पहले दिन टी-टाइम के बीच पूर्व ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर डीन जोन्स को श्रद्धांजलि दी गई। लीजेंड का बैट, कैप और चश्मा स्टंप्स के पास रखा। इस दौरान जोन्स की पत्नी जाने, बेटी अगस्ता और फोबी के साथ लीजेंड पूर्व क्रिकेटर एलन बॉर्डर भी मौजूद रहे। इसके साथ ही कुछ फैंस भी डीन जोन्स को श्रद्धांजलि देने के लिए बैनर लेकर पहुंचे। ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने इस मैच के लिए 30 हजार फैंस को स्टेडियम में आने की अनुमति दी है।

कोहली की गैरमौजूदगी में रहाणे कप्तानी संभाल रहे

भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन एक दिन पहले ही घोषित कर दी गई। टीम में 4 बदलाव किए गए। शुभमन गिल और तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज का यह डेब्यू टेस्ट है। विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा की जगह ऋषभ पंत को मौका मिला। पहले टेस्ट में फ्लॉप रहे ओपनर पृथ्वी शॉ को बाहर कर दिया गया।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


रहाणे की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरी सेंचुरी है। विदेश में रहाणे की यह 8वीं सेंचुरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *