अमर्त्य सेन का नाम अवैध प्लॉट वालों की लिस्ट में, ममता बोलीं- मुझे बहन समझिए, इस जंग में आपके साथ हूं


विश्वभारती यूनिवर्सिटी (VBU) और नोबेल अवॉर्ड से सम्मानित अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन विवादों में हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, VBU ने बंगाल सरकार को एक चिट्‌ठी लिखकर कहा है कि अमर्त्य सेन का नाम अवैध प्लॉट रखने वालों की लिस्ट में है।

इसके बाद बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सेन के बचाव में खड़ी हो गई हैं। उन्होंने अमर्त्य सेन को एक खत लिखा है। ममता ने खत में लिखा कि विश्वभारती में कुछ नए-नए घुसपैठियों ने आपकी पारिवारिक संपत्ति को लेकर चौंकाने वाले और निराधार आरोप लगाने शुरू कर दिए हैं। बहुसंख्यक धर्मांधों के खिलाफ आपकी लड़ाई में मैं साथ हूं। आप मुझे अपनी बहन समझिएगा। ​​​​

ममता बनर्जी ने लेटर में सेन के लिए लिखा है कि ये लड़ाई आपको इन झूठी ताकतों का दुश्मन बना देगी।

झूठे आरोपों के खिलाफ हम झुकेंगे नहीं-ममता

ममता का यह बयान VBU के शताब्दी समारोह के बाद आया है। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पीच दी थी। ममता ने पत्र में लिखा है कि शांति निकेतन से आपके पैतृक संबंधों को लेकर लिखी जा रही कुछ रिपोर्ट्स को लेकर मुझे गुस्सा है। इससे मैं हैरान भी हूं। हम सभी शांति निकेतन में आपके परिवार की गहरी जड़ों के बारे में जानते हैं।

आपके दादाजी क्षितिमोहन सेन शांति निकेतन के शुरुआती छात्रों में से एक और पूजनीय थे। आपके पिता और जानेमाने शिक्षाविद आशुतोष सेन ने आठ दशक पहले शांति निकेतन में अपना घर प्रतीचि बनाया था। आपका परिवार शांति निकेतन की संस्कृति के धागों में बुना हुआ है।”

बंगाल की सीएम ने लिखा कि कुछ घुसपैठियों ने आपकी संपत्ति को लेकर आरोप लगाने शुरू कर दिए हैं। इससे मुझे दुख है। मैं आपको बताना चाहती हूं कि देश के इन धर्मांध बहुसंख्यकों के खिलाफ आपकी लड़ाई में मैं मजबूती से आपके साथ खड़ी हूं। ये लड़ाई आपको इन झूठी ताकतों का दुश्मन बना देगी। असहिष्णुता और एकाधिकारवाद के खिलाफ इस लड़ाई में मुझे आप अपनी बहन और दोस्त की तरह समझिएगा। इनके झूठे आरोपों और अन्यायपूर्ण हमलों के खिलाफ हम नहीं झुकेंगे।’

साढ़े पांच हजार वर्ग फीट जमीन का मामला

रिपोर्ट्स के मुताबिक, VBU ने बंगाल सरकार को जो चिट्ठी लिखी है। उसमें यूनिवर्सिटी ने कहा है कि सेन का नाम अवैध प्लॉट धारकों की लिस्ट में है। VBU का आरोप है कि अमर्त्य सेन ने 13 डेसीमल जमीन (साढ़े पांच हजार वर्ग फीट से ज्यादा) पर अवैध तौर पर कब्जा कर रखा है। उनके पिता को 125 डेसीमल जमीन अलॉट की गई थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, 2006 में सेन ने VBU से कहा था कि वह अतिरिक्त जमीन को उनके नाम पर कर दे, पर मंजूरी मिलने के बाद भी ऐसा नहीं किया गया।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


यूनिवर्सिटी ने बंगाल सरकार को एक चिट्‌ठी लिखकर कहा है कि अमर्त्य सेन का नाम अवैध प्लॉट रखने वालों की लिस्ट में है। इसके बाद ममता सेन के समर्थन में आ गई हैं।

इसके बाद बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सेन के बचाव में खड़ी हो गई हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *