पांच महीने की प्रेग्नेंट इंजीनियर ने 10 किमी की दौड़ 62 मिनट में पूरी की, 9 साल से रनिंग कर रही हैं


प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज और फिजिकल एक्टिविटीज को लेकर परेशान रहने वाली महिलाओं के लिए बेंगलुरु की अंकिता गौर ने मिसाल कायम की है। पांच महीने की प्रेग्नेंट अंकिता ने 10 किलोमीटर की दौड़ महज 62 मिनट में पूरी की है। पेशे से इंजीनियर अंकिता ने रविवार को TCS वर्ल्ड 10K रनिंग में यह कामयाबी हासिल की। वे पिछले 9 साल से नियमित तौर पर रनिंग कर रही हैं। TCS वर्ल्ड 10K ने उनकी कामयाबी को सोशल मीडिया पर शेयर किया।

TCS वर्ल्ड 10K रनिंग पूरी करने के बाद अंकिता ने कहा- यह बिलकुल उस तरह का था, जैसा मैं पिछले 9 साल से लगभग हर दिन करती आ रही हूं। आप जागते हैं और दौड़ने जाते हैं। हालांकि, कई बार जब चोट लगी होती है या आप बीमार होते हैं, तो रुकना पड़ता है। इसके अलावा, मैंने पिछले 9 साल में दौड़ना लगातार जारी रखा है। इसलिए, मुझे लगता है कि रनिंग मेरे लिए सांस लेने जैसा है। रनिंग मेरे लिए बेहद पूरी तरह नेचुरल है।

इंटरनेशनल मैराथन में दौड़ चुकी हैं

अंकिता TCS वर्ल्ड 10K में 2013 से शामिल हो रही हैं। उन्होंने कई इंटरनेशनल मैराथन में भी भागीदारी की है। वे बर्लिन (3 बार), बोस्टन और न्यूयॉर्क मैराथन में दौड़ चुकी हैं। प्रग्नेंसी के दौरान रनिंग को लेकर अंकिता का कहना है- दरअसल, रनिंग बेहद सुरक्षित है। प्रेग्नेंसी के दौरान रनिंग अच्छी एक्सरसाइज है। अमेरिकन काउंसिल ऑफ हैल्थ के मुताबिक, अगर आप रनर हैं तो यह बिलकुल ठीक है।

TCS वर्ल्ड 10K में शामिल होने के बाद अंकिता ने कहा- प्रेग्नेंट रन के तौर पर यह मेरा पहला मैडल होगा।

रनिंग के बीच ब्रेक लेती हैं

मां बनने से पहले इस रेस की तैयारी के बारे में अंकिता का कहना है- मैं नियमित तौर पर 5 से 8 किमी दौड़ती थी। बेहद धीरे-धीरे ईजी रनिंग करती रही। हालांकि, अब मैं रनिंग और वॉकिंग के बीच ब्रेक लेती हूं। अब मैं पांच महीने की प्रेग्नेंट हूं, इसलिए मेरा शरीर पहले के मुकाबले बेहद अलग हो चुका है। पहले मैंने TCS वर्ल्ड 10K में मैडल भी जीते हैं, लेकिन इस बार मैं ऐसा नहीं कर सकी, क्योंकि मुझे रनिंग के बीच ब्रेक लेने होते हैं और वॉक भी करनी होती है।

डॉक्टर ने रनिंग के लिए सहमति दी

प्रेग्नेंसी के पांच महीने में इतनी लंबी रेस में दौड़ने को लेकर डॉक्टर की सलाह के बारे में पूछने पर अंकिता ने कहा- मेरी गायनेकोलॉजिस्ट ने कहा कि यह पूरी तरह हेल्दी है। बल्कि, उन्होंने मुझे इसमें शामिल होने और दौड़ने को मोटिवेट किया। हालांकि, उन्होंने मुझे तेज न दौड़ने की सलाह दी थी।

मुझे कोई परेशानी नहीं है, इसलिए मुझे उन्हें मुझे रनिंग की इजाजत दी। यहां तक कि पिछले तीन साल से मेरे साथ रही फिजियोथेरेपिस्ट ने भी मुझे धीरे-धीरे दौड़ने की सलाह दी। यह मेरे लिए और होने वाले बेबी के लिए भी हेल्दी है।

परिवार ने सपोर्ट किया

रेस में दौड़ने को लेकर परिवार के रिएक्शन के बारे में पूछने पर अंकिता ने कहा- शुरुआत में मेरी मां थोड़ी परेशान थीं। जब मैंने डॉक्टर की तरफ से परमिशन मिलने के बारे में बताया तो उन्होंने मुझे इसकी इजाजत दे दी। मेरे पिता खुद भी स्पोर्ट्समैन रहे हैं, इसलिए उन्होंने मुझे सपोर्ट किया। इन सबसे बढ़कर, मेरे पति हमेशा पूरे समय साथ रहे और मुझे सपोर्ट करते रहे।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


अंकिता गौर कई इंटरनेशनल मैराथन में पार्टिसिपेट कर चुकी हैं। उन्होंने TCS वर्ल्ड 10K में मैडल्स भी जीते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *