ममता से बोले राज्यपाल धनखड़- आग से मत खेलो, यह बहस छोड़नी होगी कि कौन भीतरी और कौन बाहरी


पश्चिम बंगाल दौरे पर गए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर गुरुवार को तृणमूल (TMC) समर्थकों ने पथराव कर दिया। इन घटनाओं पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा। धनखड़ ने शुक्रवार को कहा- मुख्यमंत्री को आग नहीं खेलना चाहिए, यह बहस छोड़नी होगी कि कौन भीतरी और कौन बाहरी है। जो हुआ वह दुर्भाग्यपूर्ण है।

राज्यपाल ने यह भी कहा कि कल की घटना लोकतंत्र पर कलंक है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को संविधान मानना चाहिए। वे अपनी जिम्मेदारियों से नहीं हट सकतीं। राज्य में कानून व्यवस्था लगातार बिगड़ रही है। राज्य में लोकतांत्रिक व्यवस्था के हनन को लेकर मैंने केंद्र सरकार को रिपोर्ट भेजी है।

राज्यपाल बोले- ममता को माफी मांगनी चाहिए
धनखड़ ने कहा कि उम्मीद ममता बनर्जी मेरी बात पर ध्यान देंगी। वे भटकेंगी तो मेरी जिम्मेदारी शुरू होगी। मुख्यमंत्री को कल की घटना के लिए माफी मांगनी चाहिए। लोग कल बेलगाम तरीके से सड़क पर उतरे थे। बंगाल पुलिस सरकार की कठपुतली बन गई है। मैंने सभी आला अफसरों, DGP और मुख्य सचिव से जानकारी ली। कौन भीतरी है, कौन बाहरी, ममता को इसे छोड़ना होगा। हम बंगाल में शांति चाहते हैं।

डायमंड हार्बर शहर जा रहे थे नड्डा
10 दिसंबर को पथराव उस वक्त हुआ, जब नड्डा कोलकाता से 24 परगना जिले के डायमंड हार्बर शहर जा रहे थे। डायमंड हार्बर ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी का संसदीय क्षेत्र है। प्रदर्शनकारियों ने रास्ता रोकने की कोशिश की। हमले में पार्टी महासचिव और पश्चिम बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय भी घायल हुए।

गृह मंत्रालय ने DGP, मुख्य सचिव को तलब किया
गृह मंत्रालय ने इस मामले में रिपोर्ट मांगी थी। पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था को लेकर राज्यपाल की रिपोर्ट गृह मंत्रालय को मिल गई है। गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल के DGP और मुख्य सचिव को 14 दिसंबर को तलब किया है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


धनखड़ ने कहा है कि उम्मीद ममता बनर्जी मेरी बात पर ध्यान देंगी। वे भटकेंगी तो मेरी जिम्मेदारी शुरू होगी। (फाइल फोटो)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *