मैदानी इलाकों में 8 डिग्री तक बढ़ा औसत तापमान, पहाड़ों पर बर्फबारी से फिर बढ़ सकती है सर्दी


इन दिनों सर्दी के मौसम में भी गर्मी का अहसास हो रहा है। वजह है- पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय रहने से इस बार दिसंबर में हवाओं का पैटर्न बदला हुआ है। मतलब ये है कि उत्तरी यानी ठंडे देशों से आने वाली सर्द हवाएं इस बार मैदानी इलाकों की ओर नहीं बढ़ीं।

हवाओं का पैटर्न बदलने से उत्तर भारत के मैदानी इलाकों का दिन व रात का पारा औसत से 6-8 डिग्री तक बढ़ गया है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने एक-दो दिन में उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी का अनुमान जताया है। जम्‍मू कश्‍मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्‍तराखंड और लद्दाख के कई हिस्‍सों में आज बर्फबारी हो सकती है।

चक्रवाती घेरा ठंड में रुकावट
IMD के मुताबिक, हरियाणा और उससे सटे इलाके में 1.5 किमी ऊंचाई पर प्रेरित चक्रवाती हवा का घेरा यानी इंड्यूस साइक्लोनिक सर्कुलेशन बना है। इस सिस्टम ने उत्तर से आने वाली सर्द हवा रोक ली। इसी वजह से दिन में तपिश बनी हुई है। इस सिस्टम के कारण हवा का रुख बदला।

मध्य प्रदेश: 30° से ज्यादा रहा दिन का तापमान
कई जिलों में रविवार को दिन का तापमान 30 डिग्री से ज्यादा रहा। मौसम वैज्ञानिक जीडी मिश्रा ने बताया कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर समेत 21 जिलों में रविवार को दिन का अधिकतम तापमान 30° सेल्सियस से ज्यादा रहा। प्रदेश में दिन का तापमान पश्चिमी विक्षोम के कारण बढ़ा है। इसके चलते दिन के समय मध्यप्रदेश में ठंड लाने वाली उत्तर दिशा से आने की हवाओं की बजाय दक्षिण-पश्चिम से आ रही हैं और तापमान बढ़ा है।

राजस्थान: हवाओं का रुख बदलने से पारा 8° तक बढ़ा
राजस्थान में हवाओं का पैटर्न बदलने से दिन व रात का पारा औसत से 6-8 डिग्री तक बढ़ गया है। फलौदी और बाड़मेर में दिन का पारा सबसे ज्यादा 32.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इससे दिसंबर में सर्दी की बजाय गर्मी पड़ रही है।मौसम विभाग के अनुसार 7 दिसंबर से पश्चिमी विक्षोभ फिर से सक्रिय होगा। 5 दिनों तक मौसम शुष्क रहने से पारे में खास परिवर्तन के आसार नहीं हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


फोटो दिल्ली के धौला कुआं इलाके की है। राजधानी में सोमवार सुबह घना कोहरा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *