भारत ने ऑस्ट्रेलिया से टॉस जीतकर बैटिंग चुनी, टी नटराजन और कैमरून ग्रीन का डेब्यू


भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वनडे सीरीज का तीसरा और आखिरी मुकाबला कैनबरा में खेला जा रहा है। टीम इंडिया ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग का फैसला किया। ऑस्ट्रेलिया टीम पहले ही सीरीज पर 2-0 कब्जा कर चुकी है। वहीं, भारतीय टीम विदेशी जमीन पर लगातार दूसरे क्लीन स्वीप से बचना चाहेगी। इससे पहले जनवरी-फरवरी में न्यूजीलैंड दौरे पर भारत को कीवी टीम ने 3-0 से हराया था।

नटराजन का इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू
भारतीय टीम में 4 बदलाव किए गए। मयंक अग्रवाल, नवदीप सैनी, मोहम्मद शमी और युजवेंद्र चहल को बाहर किया गया। उनकी जगह टी नटराजन, शुभमन गिल, शार्दूल ठाकुर और कुलदीप यादव को मौका मिला। नटराजन का इंटरनेशनल क्रिकेट में यह डेब्यू मैच है।

कैमरून ग्रीन का वनडे में डेब्यू
ऑस्ट्रेलिया टीम में 3 बदलाव किए गए हैं। चोटिल डेविड वॉर्नर, मार्कस स्टोइनिस नहीं खेल रहे, जबकि पैट कमिंस को आराम दिया गया है। उनकी जगह कैमरून ग्रीन, शीन एबॉट और एश्टन एगर को मौका दिया गया। ग्रीन का वनडे में यह डेब्यू मैच है। एरॉन फिंच के साथ मार्नस लाबुशाने ओपनिंग करेंगे।

दोनों टीमें:
भारत: शिखर धवन, शुभमन गिल, विराट कोहली (कप्तान), श्रेयस अय्यर, लोकेश राहुल (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, रविंद्र जडेजा, शार्दूल ठाकुर, कुलदीप यादव, टी नटराजन और जसप्रीत बुमराह।
ऑस्ट्रेलिया: मार्नस लाबुशाने, एरॉन फिंच (कप्तान), स्टीव स्मिथ, एलेक्स कैरी (विकेटकीपर), मोइसेस हेनरिक्स, मार्नस लाबुशाने, ग्लेन मैक्सवेल, कैमरून ग्रीन, शीन एबॉट, एडम जम्पा और जोश हेजलवुड।

कैनबरा में भारत अब तक कोई वनडे नहीं जीता

कैनबरा के मनुका ओवल मैदान पर ऑस्ट्रेलिया टीम अब तक कोई वनडे नहीं हारी है। टीम ने यहां अब तक 4 वनडे खेले और सभी जीते हैं। जबकि भारत ने यहां अब तक 2 मुकाबले खेले और दोनों हारे हैं।

ऑस्ट्रेलिया से 7वीं सीरीज हारा भारत
शुरुआती दोनों मुकाबले जीतकर ऑस्ट्रेलिया पहले ही सीरीज अपने नाम कर चुका है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच इस सीरीज को मिलाकर कुल 13 वनडे सीरीज खेली गईं हैं। इसमें ऑस्ट्रेलिया ने 7 और भारत ने 6 सीरीज अपने नाम कीं हैं। ऑस्ट्रेलिया ने घर में भारत के खिलाफ 3 द्विपक्षीय वनडे सीरीज खेलीं, जिसमें दो जीती और एक हारी है।

इन रिकॉर्ड्स पर रहेगी नजर

  • कप्तान कोहली इस मैच में 23 रन बनाते ही वनडे में सबसे कम पारियों में 12000 रन बनाने वाले खिलाड़ी बन जाएंगे। अभी यह रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम है। सचिन ने 309 मैच की 300 पारियों में यह रिकॉर्ड बनाया था। यदि इस मैच में कोहली ऐसा करने में कामयाब हो जाते हैं, तो वे 251 मैच की 242 पारियों में ही इस आंकड़े को छू लेंगे।
  • शमी को 150 विकेट लेने के लिए 2 विकेट की दरकार है। यदि वे दो शिकार करते हैं, तो वनडे में सबसे तेज 150 विकेट लेने वाले भारत और दुनिया के तीसरे खिलाड़ी बनेंगे। शमी के नाम अभी 79 वनडे में 148 विकेट दर्ज हैं। उनसे पहले ऑस्ट्रेलिया मिशेल स्टार्क (77) और पाकिस्तान के शकलेन मुश्ताक (79) यह कारनामा कर चुके हैं। वहीं, भारत के लिए सबसे तेज 150 विकेट लेने का रिकॉर्ड अजीत अगरकर के नाम दर्ज है, उन्होंने 97 मैच में यह कीर्तिमान बनाया था।

हेड-टू-हेड
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच अब तक 142 वनडे खेले गए। इसमें टीम इंडिया ने 52 मैच जीते और 80 हारे हैं, जबकि 10 मुकाबले बेनतीजा रहे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसी के घर में भारतीय टीम ने 53 वनडे खेले, जिसमें से 13 जीते और 38 मैच हारे हैं। 2 वनडे बेनतीजा रहे।

कोहली के पास एक और रिकॉर्ड बनाने का मौका
भले ही भारत यह सीरीज हार चुका है, लेकिन तीसरे वनडे में कोहली के पास एक और रिकॉर्ड अपने नाम करने का मौका होगा। कोहली अगर इस मैच शतक जड़ने में कामयाब हो जाते हैं, तो वे बतौर कप्तान सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले खिलाड़ी बन जाएंगे। अभी कोहली और पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग के नाम 41-41 शतक दर्ज हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


टॉस के दौरान ऑस्ट्रेलियाई कैप्टन एरॉन फिंच और भारतीय कप्तान विराट कोहली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *