राजस्थान के स्कूलों में एग्जाम्स होंगे, पहली से 8वीं तक सिलेबस आधा होगा, पासिंग मार्क भी घटाए जाएंगे


कोरोना काल में बंद हुई पढ़ाई के बावजूद राजस्थान के सभी स्कूली बच्चों को परीक्षा देनी होगी। हालांकि सरकार ने सिलेबस 50% कम करने की तैयारी कर ली है। यही नहीं, पासिंग मार्क्स भी 33% से घटाकर 26% कर दिए गए हैं। भास्कर से बातचीत में प्रदेश के शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने ये बात कही। उन्होंने बताया कि माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने इस प्रपोजल को अंतिम रूप दे दिया है। 15 मार्च से राज्य के सभी निजी और सरकारी स्कूल बंद हैं।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में अभी स्कूलों में पहली से 8वीं तक के बच्चों को एक वर्कबुक दी जा रही है। इस वर्क बुक में बच्चे घर पर ही पढ़ाई करेंगे और वर्क बुक भरकर स्कूल में जमा कराएंगे। इसे टीचर्स चेक करेंगे। इसके बाद बच्चों की तय समय पर परीक्षा ली जाएगी। हालांकि, अभी यह तय नहीं है कि वर्कबुक सिर्फ सरकारी स्कूल के बच्चों को मिलेगी या निजी स्कूलों को भी जारी होगी।

3 दिसंबर को होनी है बैठक

सौरभ स्वामी ने बताया कि राजस्थान में घर बैठे बच्चों को पढ़ाने के लिए के प्रयासों से ई-क्लासेस शुरू की गईं। टीचर्स द्वारा तैयार वीडियो सोशल मीडिया पर डाले जा रहे हैं। इसके जरिए हजारों बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं। भास्कर ने सौरभ स्वामी से जब सवाल किए, तो उन्होंने कहा कि इस बार कोई भी छात्र बिना परीक्षा पास नहीं होगा। उन्होंने बताया कि 3 दिसंबर को जयपुर में होने वाली बैठक में हम प्रपोजल रख देंगे। इसके बाद इसे फैसले के तौर पर लागू किया जाएगा।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


लॉकडाउन के बाद स्कूल बंद हैं। कई स्कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई करवा रहे हैं। शिक्षा निदेशक ने प्रपोजल को अंतिम रूप दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *