विपक्ष सीक्रेट वोटिंग पर अड़ा, तेजस्वी ने प्रोटेम स्पीकर मांझी से कहा- ये सरकार चोर दरवाजे से बनी है


बिहार विधानसभा में स्पीकर के चुनाव से पहले जमकर हंगामा हो रहा है। पूर्व सीएम जीतनराम मांझी को प्रोटेम स्पीकर बनाया गया। जब कार्यवाही शुरू हुई, तब विपक्ष सीक्रेट वोटिंग की मांग पर अड़ गया। मांझी ने कहा कि स्पीकर ध्वनि मत से स्पीकर चुना जाएगा।

इस बीच, राजद नेता तेजस्वी यादव की प्रोटेम स्पीकर से बहस हो गई। तेजस्वी ने कहा कि ये सरकार चोर दरवाजे से बनी है। वहीं, नारेबाजी के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सदन से बाहर निकल गए।

तेजस्वी ने कहा- बेईमानी हो रही है
राजद नेता तेजस्वी यादव ने सदन में नीतीश कुमार की मौजूदगी पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि आसंदी के सामने जनादेश की चोरी हो रही है। पहले जब भी काउंटिंग होती थी, सीएम बाहर होते थे, लेकिन ये तो बेईमानी हो रही है।

विपक्ष ने गुप्त मतदान की मांग ठुकराए जाने और सदन में नीतीश कुमार की मौजूदगी पर हंगामा किया।

संविधान विशेषज्ञ ने कहा- सीएम सदन में रह सकते है
संविधान विशेषज्ञ सुभाष कश्यप के मुताबिक, विधानसभा अध्यक्ष के लिए वोटिंग के दौरान सीएम सदन में रह सकते हैं, चाहे वह सदन के सदस्य हों या न हों।

अपडेट्स…

  • नीतीश कुमार को बाहर भेजने के लिए विपक्ष ने हंगामा किया। संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने नियम बताया कि सीएम सदन में रहते हैं। सीएम दोनों सदन के सम्मानित सदस्य हैं, इसलिए वोटिंग के दौरान वे रह सकते हैं। हालांकि, उनके बयान का कोई असर नहीं हुआ और सीएम बाहर जाओ नारे लगते रहे।
  • विधानसभा की कार्यवाही को पांच मिनट के लिए रोका गया।
  • प्रोटेम स्पीकर ने निर्विरोध चुनाव का प्रस्ताव रखा, लेकिन किसी ने समर्थन नहीं किया।
  • सदन में अशोक चौधरी, नीतीश कुमार और मुकेश सहनी की मौजूदगी पर आपत्ति जताई गई, क्योंकि ये तीनों ही नई विधानसभा में निर्वाचित नहीं हैं। प्रोटेम स्पीकर ने कहा कि ये मतदान से बाहर रहेंगे।
  • मुख्यमंत्री नीतीश को भी बाहर करने की मांग उठी। नीतीश भी नई विधानसभा के निर्वाचित सदस्य नहीं हैं। संसदीय कार्यमंत्री विजय चौधरी ने भास्कर को बताया था कि नियमों के मुताबिक, मुख्यमंत्री सदन में रह सकते हैं।
  • राजद के सभी थिंक टैंक विधानसभा पहुंचे हैं। इसमें मनोज झा, भोला यादव, संजय यादव, शक्ति यादव शामिल हैंं। हालांकि, ये किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं।
  • सत्र शुरू होते ही बचे हुए नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाई गई। निर्मली के विधायक अनिरुद्ध प्रसाद पीपीई किट पहनकर आए। उन्होंने ने भी शपथ ली। आज सदन के शीतकालीन सत्र का तीसरा दिन है।
कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद सदन पहुंचे विधायक अनिरुद्ध प्रसाद।
राजद विधायक अनंत सिंह ने शपथ ली।

एनडीए की ओर से भाजपा के विधायक विजय कुमार सिन्हा उम्मीदवार हैं, जबकि महागठबंधन की ओर से अवध बिहार चौधरी प्रत्याशी बनाए गए हैं। अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर एनडीए और महागठबंधन आमने-सामने हैं। प्रदेश में 51 साल बाद विधानसभा अध्यक्ष पद को लेकर वोटिंग हो रही है। इससे पहले सत्तापक्ष के ही अध्यक्ष होने की परंपरा चलते आ रही थी। लेकिन, महागठबंधन ने अपना उम्मीदवार उतारकर सियासी खेल को और भी रोमांचक बना दिया है। इस चुनाव के जरिए विपक्ष जहां अपनी ताकत दिखा रही है। वहीं, एनडीए के लिए इस कुर्सी को बचाना साख का सवाल है।

महागठबंधन और भाजपा दोनों ने व्हिप जारी किया।

पूर्व डिप्टी सीएम के ट्वीट से हंगामा

मंगलवार शाम को पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी के एक ट्वीट से सियासी हंगामा मच गया। उन्होंने आरोप लगाया कि लालू प्रसाद यादव एनडीए के विधायकों को कॉल कर रहे हैं। विधानसभा अध्यक्ष पद चुनाव में वोटिंग के लिए उन्हें लालच दिया जा रहा है। मंगलवार की पूरी रात एनडीए अपने विधायकों सख्त निर्देश देती रही कि वोटिंग उनके पक्ष में करें। महागठबंधन और एनडीए के नेता अपने विधायकों से पूरी रात संपर्क बनाते रहे।

अंतरात्मा की आवाज सुनने की अपील

इससे पहले मंगलवार की शाम राबड़ी देवी के आवास पर महागठबंधन की बैठक हुई थी। इसमें महागठबंधन के प्रत्याशी अवध बिहार चौधरी को जिताने की रणनीति बनी। बैठक के बाद राजद प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य मनोज झा ने कहा कि अवध बिहारी चौधरी जनता के उम्मीदवार हैं। आप सब ने देखा कि किस तरह से बिहार में सरकार बनाई गई। उन्होंने सभी दलों के नए विधायकों से अंतरात्मा की आवाज पर अवध बिहारी चौधरी को वोट करने की अपील की। इससे पहले सदन की कार्यवाही के दूसरे दिन तेजस्वी यादव ने कहा था कि हमें पूरा विश्वास है, जीत पक्की है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


बिहार में विधानसभा अध्यक्ष पद के चुनाव में विपक्ष ने सीक्रेट वोटिंग की मांग की, लेकिन प्रोटेम स्पीकर जीतनराम मांझी ने कहा कि वॉइस वोट यानी ध्वनि मत से स्पीकर चुना जाएगा। इस पर विपक्ष ने हंगामा कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *