कल रात से ही पूरे शहर में सन्नाटा; सड़कों पर आवाजाही थमी, मंदिरों में ताले


कोरोना की दूसरी लहर ने गुजरात को फिर से अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। खासतौर पर अहमदाबाद की हालत ज्यादा खराब है। इसी के चलते यहां शुक्रवार रात 9 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक के लिए (57 घंटे) कर्फ्यू लगा दिया गया है। कर्फ्यू के पहले दिन पूरे शहर में सन्नाटा पसरा हुआ है। शुक्रवार शाम को ही गृह विभाग ने नोटिफिकेशन जारी कर कर्फ्यू के दौरान मिलने वाली छूट के बारे में बता दिया था।

दूसरे शहर से आने वालों पर रोक नहीं
कर्फ्यू की गाइडलाइन के अनुसार, शहर में भारी वाहनों, बस-ट्रक की एंट्री पर बैन है। बाहर से आने वाली बसों को बाइपास पर ही रोका जा रहा है। यात्रियों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए बसों की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा दूसरे शहरों से आने वाले लोगों के निजी वाहनों पर रोक नहीं है। हालांकि, इन्हें गाइडलाइन के नियमों का पालन करना होगा।

कर्फ्यू में इन्हें राहत
जरूरी चीजें जैसे दूध, मेडिकल, म्युनिसिपल सर्विस, पेट्रोल और गैस स्टेशन, फार्मा कंपनियां, इलेक्ट्रिक और पानी सप्लाई करने वाले, डॉक्टर्स और मीडिया पर कर्फ्यू की पाबंदियां लागू नहीं होंगी। हालांकि, इन्हें पहचान पत्र दिखाना अनिवार्य होगा।

रेलवे व विमान यात्रियों पर भी रोक नहीं
रेलवे व अहमदाबाद से यात्रा करने वाले मुसाफिरों को भी कर्फ्यू से चिंता करने की जरूरत नहीं है। टिकट होने पर वे यात्रा कर सकते हैं। रेलवे स्टेशन पर मुसाफिरों के लिए बसों की व्यवस्था की गई है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


The silence spread throughout the city from night, the movement stopped on the streets, locks in temples, see photos

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *