भाजपा सांसद रीता बहुगुणा की 8 साल की पोती की मौत, दिवाली की रात पटाखे से झुलस गई थी


इलाहाबाद से भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी की 8 साल की पोती किया की सोमवार रात को मौत हो गई। किया दिवाली की रात पटाखा जलाने के दौरान झुलस गई थी। प्रयागराज के निजी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था। हालत में सुधार न होने की वजह से उसे दिल्ली ले जाने की तैयारी थी, लेकिन उससे पहले ही किया ने दम तोड़ दिया। किया सांसद के बेटे मयंक की बेटी थी।

दिवाली पर किया अपनी मां के साथ प्रयागराज केन्ट में अपने ननिहाल गई थी। शनिवार की शाम किया दूसरे बच्चों के साथ घर की छत पर खेल रही थी। आशंका है कि उसी समय पटाखे से उसके कपड़ों में आग लग गई जिससे वह गम्भीर रूप से झुलस गई। किया हाल ही में अपनी मां ऋचा जोशी और दादा- दादी के साथ कोरोना से ठीक होकर लौटी थी।

घटना में 60% झुलस गई थी किया

डॉ. रीता जोशी के करीबी आनंद जायसवाल ने बताया कि मयंक जोशी की शादी वर्ष 2007 में प्रयागराज केन्ट के अशोक नगर में रहने वाली निवासी ऋचा जोशी से हुई थी। किया उनकी इकलौती संतान थी। दीपावली की शाम को म्योर रोड, सिविल लाइन्स के घर पर पूजा करने के बाद ऋचा जोशी बेटी किया को लेकर कैंट में अपने मायके चली गयी थी। वहां किया अपने मामा अंकुर वैश्य के बच्चों के साथ घर की छत पर पटाखे चलाने गई थी। वह फैंसी ड्रेस पहने थी।

परिवार ने शुरुआत में घटना को बच्चों का शोर समझा

आनंद जायसवाल ने बताया कि पटाखों की चिंगारी से बच्ची के कपड़े में आग लग गई, जिससे वह चीखने लगी। लेकिन, घरवालों ने सोचा कि शायद बच्चे आपस में खेल रहे हैं। इसलिए किसी ने ध्यान नहीं दिया और न ही कोई उसे देखने गया। कुछ देर बाद मामा अंकुर वैश्य बच्चो को बुलाने गया तो पता चला कि किया झुलस गई है। आनंद के मुताबिक, हादसा शनिवार शाम को करीब 5 बजे हुआ। इसमें किया 60% तक झुलस गई थी।

दिल्ली ले जाने से पहले ही बच्ची ने दम तोड़ा

सांसद डॉ. रीता जोशी के मीडिया प्रभारी अभिषेक शुक्ला ने बताया अस्पताल में किया की हालत गम्भीर थी। इसलिए दीदी डॉ. रीता ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से बात कर उसे दिल्ली ले जाने की तैयारी की थी। मंगलवार सुबह किया को एयर एंबुलेंस से दिल्ली के मिलिट्री हॉस्पिटल ले जाना था। लेकिन, सोमवार रात में 1.30 से 2 बजे के बीच किया ने दम तोड़ दिया।

सांसद बहुगुणा के घर लाया गया शव

किया का शव सांसद रीता बहुगुणा के सिविल लाइन के घर लाया गया है। उसके पिता मंगलवार की दोपहर तक प्रयागराज नहीं पहुंच सके थे। उनके दिल्ली से वापस आने के बाद बच्ची का अंतिम संस्कार किया जाएगा। घटना के बाद, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सांसद बहुगुणा को फोन कर संवेदना जताई है। वहीं, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता समेत कई भाजपा नेता बहुगुणा के घर पहुंचे हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


दादा-दादी के साथ बच्ची किया। बच्ची के झुलसी हालत में मिलने के बाद उसे तत्काल अस्पताल ले जाया गया था। -फाइल फोटो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *