US के पूर्व प्रेसिडेंट ने लिखा- राहुल गांधी में सब्जेक्ट का मास्टर होने की योग्यता या जुनून नहीं


अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने मेमोइर (जीवनी) में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस नेता राहुल गांधी का जिक्र किया है। ओबामा ने राहुल को नर्वस बताते हुए लिखा, “राहुल उस स्टूडेंट की तरह हैं जो टीचर को इम्प्रेस करने के लिए तो उत्सुक (ईगर) है, लेकिन सब्जेक्ट का मास्टर होने के मामले में योग्यता या जुनून की कमी है। यह राहुल की कमजोरी है।” ओबामा जब सत्ता में थे तब, राहुल गांधी कांग्रेस के उपाध्यक्ष थे। ओबामा आखिरी बार दिसंबर 2017 में भारत आए थे, तब राहुल उनसे मिले थे। राहुल ने ट्वीट कर कहा था कि ओबामा से मुलाकात शानदार रही।

‘मनमोहन सिंह शांत और ईमानदार’
मनमोहन सिंह के कार्यकाल वाली UPA सरकार के समय नवंबर 2009 में ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल भारत दौर पर आए थे, तब मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी गुरुशरण कौर ने ओबामा परिवार के लिए डिनर भी रखा था। बराक ओबामा, अमेरिका के पहले अफ्रीकी-अमेरिकी राष्ट्रपति थे। ओबामा ने मनमोहन सिंह को शांत और ईमानदार बताया है।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह बोले- राहुल विदेश में भी बेइज्जती करवाते हैं

ओबामा की किताब में सोनिया गांधी का भी जिक्र
ओबामा ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का जिक्र करते हुए लिखा है, “हमने चार्ली क्रिस्ट और राहम इमैनुएल जैसे पुरुषों की हैंडसमनेस की बात की, लेकिन महिलाओं की खूबसूरती की चर्चा नहीं की। सिवाय एक या दो मामलों के, जैसे कि सोनिया गांधी।”

ओबामा की 768 पेज की किताब ‘ए प्रोमिस्ड लैंड’ 17 नवंबर को रिलीज होगी। द न्यूयॉर्क टाइम्स ने इसके कुछ हिस्सों का रिव्यू पब्लिश किया है। ओबामा ने अपनी किताब में दूसरे देशों के नेताओं के बारे में भी लिखा है। रूस के प्रेसिडेंट ब्लादिमीर पुतिन को शारीरिक रूप से साधारण बताया है। अमेरिका के प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन के बारे में लिखा है कि वे सज्जन, ईमानदार और वफादार हैं। बाइडेन को लगे कि उन्हें तवज्जो नहीं मिल रही, तो वे गुस्सा हो सकते हैं, यह ऐसी क्वालिटी है जो किसी युवा से डील करते वक्त माहौल बिगाड़ सकती है।

ओबामा ने मोदी की तारीफ की थी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टाइम मैग्जीन ने 2015 में 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की लिस्ट में शामिल किया था। उस वक्त ओबामा ने टाइम मैग्जीन में लिखे आर्टिकल में मोदी को भारत के रिफॉर्मर-इन-चीफ बताया था। ओबामा ने लिखा था कि गरीबी से लेकर प्रधानमंत्री तक का उनका सफर ऐसा है जिसमें भारत की तरक्की का जोश और संभावनाएं नजर आती हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


बराक ओबामा आखिरी बार दिसंबर 2017 में भारत आए थे, तब राहुल उनसे मिले थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *