नीतीश कुमार रविवार को NDA की बैठक के बाद सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे


नतीजे आने के बाद बिहार में बैठकों का दौर जारी है। शुक्रवार को नीतीश कुमार ने राज्यपाल फागू चौहान को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। उन्होंने विधानसभा भंग करने की सिफारिश भी कर दी है। इधर, NDA के घटक दलों की बैठक के बाद नीतीश कुमार ने कहा, ‘विधायक दल का नेता चुनने के लिए 15 नवंबर को 12.30 बजे फिर NDA की बैठक होगी।’

रविवार को ही NDA के नेता राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। इस मीटिंग में JDU की तरफ से नीतीश कुमार, विजय चौधरी, विजेंद्र यादव और अशोक चौधरी ने हिस्सा लिया। भाजपा की तरफ से सुशील मोदी, नित्यानंद राय, संजय जायसवाल और हम पार्टी के जीतनराम मांझी शामिल हुए। VIP की तरफ से मुकेश सहनी पहुंचे।

एक दिन पहले नीतीश ने कहा था- जनता मालिक है

गुरुवार शाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि जनता मालिक है, अभी फाइनल नहीं हुआ है। सभी घटक दल आपस में बातचीत करेंगे। विधानमंडल दल की बैठक उसके बाद होगी। बातचीत के बाद ही तय होगा कि कैसे क्या करना है। मुख्यमंत्री को लेकर फैसला NDA की बैठक में होगा। हमारा अभियान पूरे NDA के लिए था, लेकिन कैंडिडेट नहीं होने के बावजूद सिर्फ हमारी ही सीटों पर ढूंढ़-ढूंढ़कर उम्मीदवार खड़े कर नुकसान पहुंचाया गया।

सरकार के गठन के सभी पॉइंट्स पर होगी चर्चा
NDA की बैठक में सरकार बनाने के सभी पॉइंट्स पर बात होगी। इस बार JDU से ज्यादा सीटें लाकर भाजपा बड़े भाई की भूमिका में है, इसलिए सरकार में भाजपा के कितने मंत्री होंगे इस पर सहमति बनाने की कोशिश होगी। बैठक में इस पर भी चर्चा होगी कि हम और VIP पार्टी के कितने मंत्री होंगे, सरकार में उनकी कितनी भूमिका होगी।

सरकार बनाने को लेकर एक तरफ NDA की बैठक हुई तो दूसरी तरफ महागठबंधन में भी इस पर मंथन चल रहा है। महागठबंधन के टॉप नेताओं की नजर भी छोटे दलों की ओर है। खासकर HAM, VIP तथा AIMIM की तरफ। AIMIM के 5 विधायक जीते हैं।

NDA के पास बहुमत
बिहार विधानसभा की 243 सीटों पर हुए चुनाव में NDA ने 125 सीटें जीतकर बहुमत हासिल किया है। विपक्षी महागठबंधन को 110 सीटें मिली हैं। भाजपा को 74, जदयू को 43, राजद को 75, कांग्रेस को 19 सीटें मिलीं। भाकपा माले को 12 और अन्‍य के खाते में 8 सीटें गईं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


पटना में शुक्रवार दोपहर NDA के नेताओं की बैठक के बाद (बाएं से) जीतनराम मांझी, नीतीश कुमार, सुशील कुमार मोदी और वीआईपी के मुकेश सहनी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *