सचिन पायलट संक्रमित; एम्स निदेशक का दावा- एक समय देश में हर्ड इम्युनिटी आ जाएगी, तब वैक्सीन की जरूरत ही नहीं पड़ेगी


कांग्रेस नेता सचिन पायलट कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। उन्होंने गुरुवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। पायलट ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में जो भी मेरे संपर्क में आए हैं, वे अपना टेस्ट करा लें। मैं डॉक्टरों की सलाह ले रहा हूं। उम्मीद है जल्द ठीक हो जाऊंगा।

उधर, इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स) के निदेशक रंदीप गुलेरिया का कहना है कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बाद हम ऐसी स्थिति में पहुंच जाएंगे, जब हर्ड इम्युनिटी आ जाएगी। तब वैक्सीन की भी जरूरत नहीं पड़ेगी।

एक इंटरव्यू में उनसे पूछा गया कि अगर वैक्सीन 2021 के आखिर तक या 2022 के शुरू में आती है तो क्या तब तक लोगों में इम्युनिटी नहीं आ जाएगी? लोग इस वायरस के संक्रमण को सर्दी, खांसी जुकाम जैसी मामूली बीमारी समझने लगें, तो इसका उनकी सेहत पर ज्यादा बुरा असर तो नहीं पड़ता है?

इसके जवाब में रंदीप गुलेरिया ने कहा कि यहां दो पहलू हैं। एक तो यह कि वैक्सीन जल्दी आ जाए। अगर आ गई तो यह सबसे पहले उन लोगों को दी जाएगी, जिन्हें इंफेक्शन का खतरा ज्यादा है। इससे संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आएगी। इस दौरान एक समय ऐसा आएगा, जब हम हर्ड इम्युनिटी पा लेंगे और लोग भी महसूस करेंगे कि उनमें इम्युनिटी आ गई है। ऐसी स्थिति में वैक्सीन की जरूरत नहीं पड़ेगी। अगर वायरस में कोई बदलाव नहीं आता है तो वैक्सीन की जरूरत पड़ेगी, क्योंकि दोबारा संक्रमण का खतरा बना रहेगा।

दवा कंपनियों को चिंता, वैक्सीन की मांग कम न हो जाए

गुलेरिया ने कहा कि एक अहम मुद्दा यह है कि वायरस में कैसे बदलाव आता है और यह लोगों को दोबारा संक्रमित कर सकता है या नहीं। हम अभी जांच ही कर रहे हैं कि आने वाले कुछ महीनों में वायरस कैसे व्यवहार करेगा। उसी के आधार पर कोई फैसला लिया जा सकता है कि कितनी जल्दी-जल्दी वैक्सीन लगाने की जरूरत पड़ेगी। अगर अच्छी हर्ड इम्युनिटी आ जाती है तो ये एक चुनौती होगी, क्योंकि वैक्सीन बनाने में काफी पैसा खर्च हुआ है और वैक्सीन बनाने वालों को यह चिंता सता रही है कि कहीं वैक्सीन की मांग कम न हो जाए।

कोवीशील्ड वैक्सीन के 4 करोड़ डोज तैयार

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अच्छी खबर है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने गुरुवार को बताया कि ऑक्सफोर्ड और एस्ट्राजेनिका की कोरोना वैक्सीन कोवीशील्ड के चार करोड़ डोज तैयार कर लिए गए हैं। तीसरे और फाइनल फेज ट्रायल के लिए 1600 लोगों का रजिस्ट्रेशन भी हो गया है। वहीं, कोविड सुरक्षा मिशन के तहत भारतीय वैक्‍सीन के विकास के लिए वित्त मंत्री ने 900 करोड़ रु. का ऐलान किया है।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की निगरानी में कोवीशील्ड का ट्रायल हो रहा है। SII ने अमेरिकी कंपनी नोवावैक्‍स (Novavax) से भी Covavax वैक्‍सीन के लिए टाईअप किया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, Novavax ने SII के साथ 2021 में 100 करोड़ डोज सप्लाई करने का करार किया है।

देश के कुछ राज्यों में एक्टिव केस में हो रही बढ़ोतरी चिंता का सबब बन गया है। बुधवार को देश में 4 हजार 988 एक्टिव केस बढ़े, इनमें से अकेले महाराष्ट्र में ही 4 हजार 351 मरीज कम हुए। 17 राज्यों में एक्टिव केस कम हुए हैं तो 16 राज्यों में बढ़े हैं। सबसे ज्यादा 1244 मरीज दिल्ली में बढ़े हैं।

बुधवार को देश में कुल 48 हजार 285 केस आए, 52 हजार 704 मरीज ठीक हो गए, 550 की मौत हो गई। अब तक कुल 86.84 लाख केस आ चुके हैं। 80.64 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं, 1.28 लाख मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि 4.89 लाख का इलाज चल रहा है।

कोरोना अपडेट्स

  • दिल्ली हाईकोर्ट ने राजधानी में कोरोना के बढ़ते केसों पर चिंता जताई है। अदालत ने कहा कि दिल्ली सरकार को लोगों की जिंदगी से खेलने नहीं दिया जा सकता। कोर्ट ने हिदायत दी कि दिल्ली सरकार को मौजूदा हालात को देखते हुए ज्यादा सजग रहने की जरूरत है।
  • पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए बुधवार को बड़ा फैसला किया। यहां 2021 में 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स बिना परीक्षा पास किए जाएंगे।
  • दिल्ली हाईकोर्ट ने लोगों के जमावड़े और ट्रांसपोर्ट से जुड़ी पाबंदियों में ढील देने पर केजरीवाल सरकार को फटकार लगाई है। अदालत ने सरकार से पिछले दो हफ्ते में कोरोना की रोकथाम के लिए किए गए उपायों पर स्टेटस रिपोर्ट भी मांगी।
  • दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर ज्यादा दिन तक चल सकती है। इसमें पिछली बार से ज्यादा केस आ सकते हैं।
  • हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट ने भी प्रदेश सरकार से पूछा है कि राज्य में कोरोना से बिगड़ रहे हालात पर आप क्या कदम उठा रहे हैं? जवाब शुक्रवार को दाखिल करना है।

पांच राज्यों का हाल

1. मध्यप्रदेश

राज्य में बुधवार को 883 कोरोना मरीज मिले। 691 लोग रिकवर हुए और 13 संक्रमितों की मौत हो गई। अब तक 1 लाख 79 हजार 951 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 8328 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 1 लाख 68 हजार 568 लोग ठीक हो चुके हैं। संक्रमण के चलते अब तक 3055 मरीजों की मौत हो चुकी है।

2. राजस्थान

बुधवार को राज्य में 2080 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। इसी के साथ मरीजों का आंकड़ा अब 2 लाख 17 हजार 151 हो गया है। इनमें 16 हजार 993 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 1 लाख 98 हजार 139 लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक संक्रमण के चलते 2019 मरीजों की मौत हो चुकी है।

3. बिहार

पिछले 24 घंटे के अंदर 702 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। इसी के साथ मरीजों का आंकड़ा अब 2 लाख 24 हजार 977 हो गया है। इनमें 6392 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 2 लाख 17 हजार 422 लोग ठीक हो चुके हैं। संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या अब 1162 हो गई है।

4. महाराष्ट्र

राज्य में बुधवार को 4907 नए मरीज मिले। 9164 लोग रिकवर हुए और 125 संक्रमितों की मौत हो गई। अब तक राज्य में 17 लाख 31 हजार 833 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 88 हजार 70 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 15 लाख 97 हजार 255 लोग ठीक हो चुके हैं। संक्रमण से अब तक 45 हजार 560 लोगों की मौत हो चुकी है।

5. उत्तरप्रदेश

राज्य में बुधवार को संक्रमण के 1848 नए केस आए। 2112 मरीज ठीक हुए और 20 की मौत हो गई। अब तक 5 लाख 3 हजार 159 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 22 हजार 562 मरीजों का इलाज चल रहा है। 4 लाख 73 हजार 316 संक्रमित ठीक हो चुके हैं, जबकि 7281 की मौत हो चुकी है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


सचिन पायलट ने ट्वीट किया कि पिछले कुछ दिनों में जो भी मेरे संपर्क में आए हैं, वे अपना टेस्ट करा लें। -फाइल फोटो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *