आरक्षण की मांग को लेकर मुंबई-दिल्ली रूट पर ट्रेनें रोकीं, पटरियां उखाड़ीं; ट्रेनों को डायवर्ट करना पड़ा


राजस्थान में आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर आंदोलन फिर से उग्र हो रहा है। भरतपुर के पीलूपुरा में रविवार शाम बड़ी संख्या में गुर्जर समुदाय के लोग इकट्ठा हो गए। इन लोगों ने हिंडौन सिटी-बयाना रेलवे ट्रैक पर कब्जा कर लिया। पटरियां उखाड़नी शुरू कर दीं। इससे मुंबई व दिल्ली की ट्रेनों का संचालन रोकना पड़ा। जयपुर से मुंबई जा रही अवध एक्सप्रेस को भरतपुर में रोक दिया गया।

साथ ही हिंडौन सिटी बयाना से होकर गुजरने वाली 7 ट्रेनों को डायवर्ट किया गया है। रेलवे ट्रैक की सुरक्षा के लिए RPF के 150 जवान तैनात किए गए हैं। सरकारी अधिकारियों, पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद्द की जा चुकी हैं। पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल और पुलिस फोर्स तैनात की गई है।

रेलवे ट्रैक की सुरक्षा के लिए RPF के 150 जवान तैनात किए गए हैं। हालांकि, इससे पहले आंदोलनकारियों ने पटरी उखाड़ दी थी।

इन ट्रेनों के रूट बदले गए

  1. गाड़ी संख्या 02060 (ह.निज़ामुद्दीन-कोटा, प्रारम्भिक स्टेशन से चलने की दिनांक 01.11.20) वाया भरतपुर-बांदीकुई-जयपुर-सवाई माधोपुर
  2. गाड़ी संख्या 09039 (बांद्रा टर्मिनस-मुजफ्फरपुर, प्रारम्भिक स्टेशन से चलने की दिनांक 31.10.20) वाया सवाई माधोपुर- जयपुर- बांदीकुई -भरतपुर- आगरा फोर्ट
  3. गाड़ी संख्या 02401 (कोटा-देहरादून प्रारम्भिक स्टेशन से चलने की दिनांक 01.11.20) वाया सवाई माधोपुर- जयपुर- दिल्ली
  4. गाड़ी संख्या 02415 (इंदौर-ह. निजामुद्दीन प्रारम्भिक स्टेशन से चलने की दिनांक 01.11.20 वाया सवाई माधोपुर- जयपुर- दिल्ली
  5. गाड़ी संख्या 02416 (ह. निजामुद्दीन-इंदौर प्रारम्भिक स्टेशन से चलने की दिनांक 01.11.20) वाया दिल्ली- जयपुर- सवाई माधोपुर
  6. गाड़ी संख्या 02963 (ह. निजामुद्दीन-उदयपुर प्रारम्भिक स्टेशन से चलने की दिनांक 01.11.20 वाया दिल्ली- जयपुर- अजमेर-चंदेरिया
  7. गाड़ी संख्या 02963 (ह. निजामुद्दीन-उदयपुर प्रारम्भिक स्टेशन से चलने की दिनांक 01.11.20 वाया चंदेरिया- अजमेर-जयपुर-दिल्ली

आरएसी की कंपनियां बयाना पहुंचीं

गुर्जर आंदोलन के पुराने अनुभवों से सबक लेते हुए जिला प्रशासन ने भी तैयारियां पूरी कर ली हैं। लोगों को सुरक्षा का भरोसा दिलाने के लिए RAC की दो कंपनियां पहुंच चुकी हैं। स्टेशन और ट्रैक की सुरक्षा के लिए आरपीएफ के 100 और जीआरपी के 300 जवान भी पहुंच चुके हैं। आरपीएफ चौकी इंचार्ज मुकेश चौधरी ने बताया कि इन्हें बयाना और फतेहसिंहपुरा के बीच स्टेशनों और ट्रैक पर तैनात किया जाएगा।

पीलूपुरा में रेलवे ट्रैक पर बड़ी संख्या में गुर्जर आंदोलनकारी एकत्र हो गए। उन्होंने रेलवे ट्रैक उखाड़ दिया।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


राजस्थान में आरक्षण की मांग को लेकर रविवार शाम को गुर्जर आंदोलन ने उग्र रुप ले लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *