‘EOS-01’ सैटेलाइट 7 नवंबर को लॉन्च किया जाएगा, अंतरिक्ष से LAC पर रखेगा नजर


इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (ISRO) इस साल का अपना पहला सैटेलाइट नवंबर में लॉन्च करेगा। यह सैटेलाइट श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से 7 नवंबर को दोपहर 3:02 मिनट पर लॉन्च किया जाएगा। ISRO ने बुधवार को इसकी जानकारी दी।

इसरो के मुताबिक, सैटेलाइट ‘EOS-01’ (अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट) को PSLV-C49 रॉकेट से लॉन्च किया जाएगा। इसके साथ ही 9 कस्टमर सैटेलाइट भी लॉन्च किए जाएंगे। इन सभी को न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड (NSIL) के साथ एक कमर्शियल एग्रीमेंट के तहत लॉन्च किया जा रहा है।

दुश्मनों पर नजर रखने में कारगर साबित होगा सैटेलाइट

‘EOS-01’ अर्थ ऑब्जरवेशन रिसेट सैटेलाइट का एक एडवांस्ड सीरीज है। इसके सिंथेटिक अपर्चर रडार (SAR) में किसी भी समय और मौसम में पृथ्वी पर नजर रखने की क्षमता है। यह सैटेलाइट बादलों के बीच भी पृथ्वी पर नजर रख सकता है।

इस सैटेलाइट से भारतीय सेना को काफी मदद मिलेगी। सैटेलाइट की मदद से चीन समेत सभी दुश्मनों पर निगरानी रखने में भी आसानी रहेगी। इसके साथ ही सैटेलाइट का इस्तेमाल खेती, फॉरेस्ट्री और बाढ़ की स्थिति पर निगरानी रखने जैसे सिविल एप्लिकेशन के लिए भी किया जाएगा।

PSLV-C50 को लॉन्च करने की तैयारी कर रहा ISRO

इस मिशन के तुरंत बाद, ISRO दिसंबर में GSAT-12R कम्युनिकेशन सैटेलाइट को PSLV-C50 रॉकेट से लॉन्च करने की योजना बना रहा है।

ISRO ने अपना आखिरी सैटेलाइट दिसंबर 2019 में लॉन्च किया था

ISRO ने 11 दिसंबर 2019 को रिसैट-2BR1 लॉन्च किया था। इसे PSLV-C48 की मदद से लॉन्च किया गया था। यह एक सर्विलांस सैटेलाइट था। वहीं, इस साल 17 जनवरी को Gsat-30 को यूरोपियन स्पेसपोर्ट, फ्रेंच गुयाना से लॉन्च किया गया था।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


सैटेलाइट ‘EOS-01’ को PSLV-C49 रॉकेट से लॉन्च किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *