भारी बारिश की वजह से मुंबई के कई इलाकों में पानी भरा; मुंबई, ठाणे समेत उत्तरी कोंकण इलाके के लिए मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी


हैदराबाद के बाद अब महाराष्ट्र के मुंबई और पुणे समेत कई इलाकों में बुधवार रात से मूसलाधार बारिश जारी है। पुणे के कई इलाकों में पानी भर गया है। मुंबई और पुणे में रातभर जमकर बारिश हुई है। यहां घरों, सड़कों, गलियों में घुटनों से ज्यादा तक पानी भरा है। मौसम विभाग ने महाराष्ट्र के कई इलाकों में गुरुवार को भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना जताई है। मुंबई, ठाणे समेत उत्तरी कोंकण इलाके के लिए रेड अलर्ट भी जारी किया गया है।

अलग-अलग हिस्सों में बारिश का पानी भरने से राहगीरों की भी दिक्कतें बढ़ गई हैं। मुंबई के लोअर परेल इलाके में भी भारी बारिश से जलभराव के हालात बन गए हैं।

अपडेट्स

  • नेशनल डिजास्टर रिलीफ फोर्स (एनडीआरएफ) ने रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए बीते दिन 2 टीमें कर्नाटक और 3 टीमें महाराष्ट्र भेजी गईं। महाराष्ट्र भेजी गई टीमें सोलापुर, पुणे के इंदरपुर और लातुर में डिप्लॉय की गई।
  • कर्नाटक नीरावरी निगम लिमिटेड के मुताबिक, महाराष्ट्र में भारी बारिश की वजह से सोन्ना बैराज से 2 लाख 23 हजार क्यूसेक पानी अफजलपुर, कलबुरगी जिले में भीमा नदी में छोड़ा गया।
  • मौसम विभाग ने मध्य महाराष्ट्र में अगले 12 घंटे में 20 से 30 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। प्रभावित इलाकों में नुकसान की भी आशंका जताई गई है।

पुणे के बाढ़ प्रभावित इलाके से 40 को रेस्क्यू किया
पुणे के बाढ़ प्रभावित नीमगांव केतकी गांव से बुधवार को 40 लोगों को रेस्क्यू किया गया। बारामती के एसडीओ के मुताबिक, 40 लोगों को बचा लिया गया है, जबकि 15 अन्य लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। वहीं, एक दूसरी घटना में इंदापुर में अपने वाहन के साथ फंसे 2 लोगों को बचाया गया।

पुणे के इंदापुर में एक शख्स तेज बहाव में बह रहा था। यह देखकर स्थानीय लोग उसकी मदद के लिए आगे आए। फिर लोगों ने जेसीबी मशीन की मदद से उस शख्स की जान बचाई। भीषण बारिश की वजह से मुंबई के सायन पुलिस स्टेशन और किंग्स सर्कल में भी सड़कें पानी से डूब गई हैं।

भारी बारिश की वजह से श्रीमंत दगडूसेठ हलवाई गणपति मंदिर के पास भी सड़कों पानी भर गया। बारिश के चलते पुणे में कई इलाके में देर रात से बिजली गुल है।

तेलंगाना में बारिश से अब तक 30 की मौत
तेलंगाना के कई इलाकों में मंगलवार से जारी बारिश की वजह से मरने वालों का आंकड़ा 30 पहुंच गया है। इनमें 19 मौतें तो सिर्फ ग्रेटर हैदराबाद में दर्ज की गईं हैं, जबकि 4 लोग लापता बताए जा रहे हैं। इलाके में सड़कें नदियों में तब्दील हो गईं हैं। कई गाड़ियां पानी के तेज बहाव में बह गईं। बुधवार को बंडल गुडा इलाके में एक घर पर पत्थर गिरने से 2 महीने के बच्चे समेत 9 लोगों की मौत हो गई थी।

मौसम विभाग के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में कम दबाव पैदा होने की वजह तेलंगाना और ओडिशा के कई जिलों में भारी बारिश हो रही है। भारी बारिश से प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्यों में नेशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स टीम (एनडीआरएफ) और सेना जुटी हुईं हैं। लोगों को बचाने के लिए बोट की मदद ली जा रही है। वहीं, 2 हैलिकॉप्टर्स को रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए स्टैंडबाइ पर रखा गया है।

प्रधानमंत्री ने तेलंगाना और आंध्र के सीएम से बात की
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव और आंध्र प्रदेश के सीएम वाईएस जगन मोहन रेड्‌डी से बात की। उन्होंने दोनों राज्यों में भारी बारिश से बने हालातों के बारे जानकारी ली और राहत एवं बचाव कार्यों में हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

गृह राज्य मंत्री किशन रेड्‍डी हैदराबाद पहुंचे
केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने बुधवार को हैदराबाद के निचले इलाकों का दौरा किया, जहां भारी बारिश की वजह से बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने पिछले 40 सालों में हैदराबाद में इनते बुरे हालात नहीं देखे। पूरा शहर पानी में डूबा हुआ है। शहर की ज्यादातर बस्तियां पानी में डूब गई हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


पुणे स्थित बारामती में पानी लोगों के घरों में घुस गया है। सड़कें नदियों में तब्दील हो गईं हैं। इसकी वजह से लोगों को खासी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *