दशहरा, दिवाली के फेस्टिव सीजन में 392 स्पेशल ट्रेनें, 20 अक्टूबर से 30 नवंबर के बीच चलेंगी; किराया मेल-एक्सप्रेस से 30% तक ज्यादा


रेलवे ने आगामी दुर्गापूजा, दशहरा, दिवाली और छठ के त्योहारी सीजन में यात्रियों को बड़ी सौगात दी है। रेलवे ने 392 अतिरिक्त विशेष ट्रेनों को चलाने का फैसला लिया है। हालांकि, ये ट्रेनें 20 अक्टूबर से 30 नवंबर तक के सीमित समय के लिए चलेंगी। रेलवे मंत्रालय ने विभिन्न क्षेत्रों की मांग पर 196 जोड़ी ट्रेनों को चलाने की मंजूरी दी है, जो लखनऊ, कोलकाता, पटना, वाराणसी जैसी जगहों से शुरू होंगी।

इन ट्रेनों में रोजाना, हफ्ते में चार बार, हफ्ते में एक बार चलने वाली ट्रेनें शामिल होंगी। फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनों का ऐलान करते हुए रेलवे ने कहा कि चूंकि ये सभी ट्रेनें सुपरफास्ट ट्रेनें होंगी, इसलिए इनकी स्पीड कम से कम 55 किमी प्रति घंटे होगी। वहीं, इन ट्रेनों का किराया मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के मुकाबले 10% से 30% तक ज्यादा होगा। यानी अन्य स्पेशल ट्रेनों के बराबर रहेगा।

अब तक 550 ट्रेनें चल रहीं
रेलवे ने जोनल रेलवे को निर्देश दिया है कि इन ट्रेनों में एसी-3 कोच की ज्यादा संख्या के साथ चलाया जाए। अनलॉक के बाद 12 मई से अब तक रेलवे देशभर में करीब 550 मेल/एक्सप्रेस विशेष ट्रेन चला रहा है। इनमें 15 जोड़ी राजधानी विशेष ट्रेन, 100 जोड़ी लंबी दूरी की ट्रेनें भी शामिल हैं।

फेस्टिव स्पेशल को मिलाकर लॉकडाउन से पहले के मुकाबले 8.6% ही चलेंगी
लॉकडाउन से पहले तक लोकल, मेल, एक्सप्रेस, शताब्दी, राजधानी, दूरंतो मिलाकर 11 हजार से अधिक ट्रेनों को संचालन होता था। यानी अब त्योहार विशेष ट्रेनों को मिलाकर सामान्य दिनों में संचालित होने वाली ट्रेनों की तुलना केवल 8.6% ट्रेनें ही संचालित होंगी। हाल ही में रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा था कि रेलवे फेस्टिव सीजन में 200 से अधिक ट्रेनों को चलाने की योजना बनाई है। जरूरत पर इनकी संख्या बढ़ा सकते हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


अनलॉक के बाद 12 मई से अब तक रेलवे देशभर में करीब 550 मेल/एक्सप्रेस विशेष ट्रेन चला रहा है। (फाइल फोटो)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *