वाट्सऐप और सोशल मीडिया के जरिए आईएसआई के संपर्क में था, लड़ाकू विमानों से जुड़ी कई खुफिया जानकारी देश से बाहर पहुंचाई


महाराष्ट्र एंटी टेररिस्ट स्कवाड ( एटीएस) ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करने वाले हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के कर्मचारी को गिरफ्तार किया है। उसकी पहचान 41 साल के दीपक शिरसाट के तौर पर हुई है।

वह वाट्सऐप और सोशल मीडिया के जरिए आईएसआई के संपर्क में था। उसने भारतीय लड़ाकू विमानों और उन्हें तैयार करने से जुड़ी खुफिया जानकारी पाकिस्तान भेजी थी। तीन दिन पहले उसे पुलिस हिरासत में लिया गया था। हालांकि, एटीएस के एडिशनल डीजी देवेन भारती ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी।

एटीएस अफसरों के मुताबिक, शिरसाट नासिक के ओझर स्थित एचएएल के एयरक्राफ्ट डिविजन में क्वालिटी कंट्रोल से जुड़ा काम करता था। एचएल के ओझर प्लांट में मिग और सुखोई लड़ाकू विमानों के अलग-अलग वेरिएंट तैयार किए जाते हैं।

पिछले कुछ दिनों से सुरक्षा एजेंसियों के रडार पर था
शिरसाट ने कुछ दिनों पहले एक विदेशी व्यक्ति से मुलाकात की थी। पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को इसकी जानकारी मिली। इसके बाद से ही वह सुरक्षा एजेंसियों के रडार पर था। उसके पास तीन मोबाइल, पांच सिमकार्ड और दो मेमोरी कार्ड जब्त किए गए हैं।

पूछताछ में उसने आईएसआई से संपर्क में होने की बात कबूल की है। उसने लड़ाकू विमान तैयार करने वाली सुविधा से जुड़े कई दस्तावेज, तस्वीरें और कुछ नक्शे आईएसआई को दिया था। वह देश की रक्षा सुविधाओं के बारे में अहम जानकारियां जुटा रहा था।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


एटीएस अफसरों के मुताबिक, जासूसी के आरोप में गिरफ्तार दीपक शिरसाट नासिक के ओझर स्थित एचएएल के एयरक्राफ्ट डिविजन में क्वालिटी कंट्रोल से जुड़ा काम करता था।- फाइल फोटो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *