केंद्र ने 12 राज्यों में चुनावी रैली को मंजूरी दी, 100 से ज्यादा लोग शामिल हो सकेंगे; पहले 15 अक्टूबर तक रोक लगाई गई थी


बिहार चुनाव और अन्य 11 राज्यों में उप चुनाव को देखते हुए केंद्र सरकार ने गुरुवार को बड़ा फैसला लिया है। अब इन 12 राज्यों में बड़ी चुनावी रैलियां हो सकेंगी। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस बाबत आदेश भी जारी कर दिया है।

पहले 15 अक्टूबर तक राजनीतिक रैलियों पर रोक लगाई गई थी, लेकिन केंद्र के आदेश के बाद अब ये तत्काल प्रभाव से शुरू की जा सकेंगी। अनलॉक 5 की गाइडलाइन में केंद्र सरकार ने राजनीतिक कार्यक्रमों में 100 से 200 लोगों की मौजूदगी को मंजूरी दी थी। अब इसका दायरा बढ़ा दिया गया है।

रैलियों के लिए ये है गाइडलाइन

  • रैली के दौरान सभी राजनीतिक पार्टियों को कोविड-19 से जुड़े नियमों का सही तरह से पालन करना होगा।
  • एंट्री गेट पर सभी समर्थकों के हाथ सैनिटाइज कराने होंगे।
  • रैली में उन्हीं लोगों को प्रवेश मिलेगा जो फेस मास्क पहने होंगे।
  • सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखना होगा।
  • बंद स्थानों पर सभा के दौरान लोगों के बैठने की क्षमता के अनुसार 50% लोग ही शामिल हो सकेंगे।
  • एंट्री गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग का होना जरूरी है।

इन राज्यों में होना है चुनाव

बिहार, मध्य प्रदेश, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, गुजरात, कर्नाटक, हरियाणा, झारखंड, छत्तीसगढ़, मणिपुर, नगालैंड और ओडिशा में चुनाव होने हैं। इनमें बिहार में विधानसभा की सभी सीटों पर चुनाव होंगे, जबकि अन्य राज्यों में कुछ सीटों पर ही चुनाव कराए जाएंगे।

कोरोना संकट के बीच इन देशों में भी चुनाव
कोरोना संकट के बीच भारत ही नहीं, बल्कि दुनिया के कई अन्य देशों में भी चुनाव हो रहे हैं। इनमें अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव, कोरिया, बेलारुस, इजराइल, हॉन्गकॉन्ग और पोलैंड शामिल हैं। इन देशों में भी पब्लिक रैलियों को मंजूरी मिली हुई है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


फोटो 2015 के विधानसभा चुनाव में हुई रैली में उमड़ी भीड़ की है। इस बार कोरोना से जुड़ी पाबंदियों के कारण राजनीतिक पार्टियों पर बड़ी रैलियां करने पर रोक है।-फाइल फोटो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *