ट्रम्प को इलाज के लिए मिलिट्री हॉस्पिटल ले जाया गया, अमेरिका में डेमोक्रेट्स के प्रेसिडेंट कैंडिडेट बाइडेन कोरोना निगेटिव; दुनिया में 3.46 करोड़ केस


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को कोरोना के इलाज के लिए मिलिट्री हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। वे कुछ दिन वहीं रहकर काम करेंगे। व्हाइट हाउस ने शुक्रवार देर रात यह जानकारी दी। प्रेस सेक्रेटरी कायले मैकनी ने कहा कि राष्ट्रपति अपने फिजिशियन और मेडिकल एक्सपर्ट की सलाह पर अगले कुछ दिन वाल्टर रीड के प्रेसिडेंशियल ऑफिस से काम करेंगे। ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया शुक्रवार सुबह कोरोना पॉजीटिव पाए गए थे।

ब्रिटेन की स्कॉटिश नेशनल पार्टी की सांसद मार्गरेट फेर्रियर को कोरोना से जुड़े नियमों को तोड़ने के आरोप में पार्टी से निलंबित कर दिया गया। वह बुधवार को हाउस ऑफ कॉमन्स पहुंची थीं। इसके बाद उन्होंने पब्लिक ट्रांसपोर्ट से लंदन से इडनबर्ग तक सफर भी किया था। बाद में फेर्रियर ने अपनी गलती मानी और लोगों से इसे न दोहराने की अपील की।

हालांकि, अब उनके इस्तीफे की मांग तेज हो गई है। फेर्रियर को कोविड नियम तोड़ने के लिए पुलिस जांच का सामना करना पड़ सकता है। उन्हें 4000 पाउंड (करीब 4 लाख रु.) का जुर्माना भी भरना पड़ सकता है। ब्रिटेन में अब तक 4 लाख 67 हजार 146 लोग संक्रमित मिले हैं और 42 हजार से ज्यादा मौतें हुई हैं।

डेमोक्रेट्स के जो बाइडेन बोले- मैं खुश हूं कि जिल और मेरी रिपोर्ट निगेटिव है

इस बीच, अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति और डेमोक्रेट्रस के प्रेसिडेंट कैंडिडेट जो बाइडेन की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट शुक्रवार को निगेटिव आई। बाइडेन ने ट्वीट किया- मैं खुश हूं कि जिल (बाइडेन की पत्नी) और मेरी रिपोर्ट निगेटिव आई है। आप सभी लोगों को मेरी फिक्र करने के लिए धन्यवाद। उम्मीद करता हूं कि यह इस बात की चेतावनी होगी कि हमेशा मास्क पहने, सोशल डिस्टेंसिंग रखें और अपने हाथ धोएं।

अमेरिका में अब तक 75 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं और 2 लाख से ज्यादा संक्रमितों की मौत हुई है। राष्ट्रपति ट्रम्प और फर्स्ट लेडी मेलानिया के संक्रमित होने के बाद देश के नेताओं के संक्रमित होने की आशंका जाहिर की जा रही थी।

दुनिया में संक्रमितों का आंकड़ा 3.46 करोड़ से ज्यादा हो गया है। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 2 करोड़ 57 लाख 62 हजार 241 से ज्यादा हो चुकी है। मरने वालों का आंकड़ा 10.29 लाख के पार हो चुका है। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं।

इन 10 देशों में कोरोना का असर सबसे ज्यादा

देश

संक्रमित मौतें ठीक हुए
अमेरिका 75,07,524 2,12,912 47,50,176
भारत 64,26,789 1,00,148 53,82,979
ब्राजील 48,49,229 1,44,767 42,12,772
रूस 11,94,643 21,077 9,70,296
कोलंबिया 8,35,339 26,196 7,51,691
पेरू 8,18,297 32,535 6,90,528
स्पेन 7,78,607 31,973 उपलब्ध नहीं
अर्जेंटीना 7,65,002 20,288 6,03,140
मैक्सिको 7,48,315 78,078 5,37,475
साउथ अफ्रीका 6,76,084 16,866 6,09,584

नेजल टेस्ट के बाद अमेरिकी महिला की मस्तिष्क की लाइनिंग पंक्चर

डॉक्टरों ने एक मेडिकल जर्नल में बताया कि कोरोना नेजल स्वॉब टेस्ट कराने के बाद एक अमेरिकी महिला की मस्तिष्क की लाइनिंग पंक्चर हो गई। इसकी वजह से महिला के नाक से ब्रेन फ्लूइड लीक होने लगा। डॉक्टर ने बताया कि महिला के इलाज में देरी होती तो उसके दिमाग में बैक्टीरियल इन्फेक्शन भी हो सकता था। जानकारी के मुताबिक, महिला को एक अनडायग्रोज्ड डिफ्केट था। इसकी वजह से मस्तिष्क की लाइनिंग नाक तक बढ़ आती है।

दुनिया के 99% संक्रमितों में हल्के लक्षण

अभी दुनिया में 77 लाख 81 हजार 874 एक्टिव केस हैं। मतलब इन मरीजों का अभी इलाज चल रहा है। इनमें 99% यानी 77 लाख 81 हजार 874 मरीजों में संक्रमण का हल्का लक्षण पाया गया है, जबकि 1% यानी 66,054 मरीजों की हालत गंभीर है। इनमें भी सबसे ज्यादा 14,190 गंभीर मरीज अमेरिका और 8,944 भारत में हैं।

डोनाल्ड ट्रम्प और पत्नी मेलानिया संक्रमित
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और पत्नी मेलानिया ट्रम्प कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। दोनों को क्वारैंटाइन कर दिया गया है। गुरुवार को ट्रम्प की सीनियर एडवाइजर होप हिक्स संक्रमित पाई गईं थीं। पिछले दिनों उन्होंने राष्ट्रपति के साथ कई यात्राएं की थीं।

इसके बाद राष्ट्रपति और उनकी पत्नी का भी कोरोना टेस्ट किया गया था। शुक्रवार को इसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। हालांकि, अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस और उनकी पत्नी और सेकंड लेडी कैरेन पेंस की रिपोर्ट निगेटिव आई।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रम्प दोनों संक्रमित पाए गए हैं। (फाइल फोटो)

फ्रांस: पेरिस में रेस्टोरेंट्स बंद होंगे

फ्रांस में संक्रमण की दूसरी लहर सरकार पर बहुत भारी पड़ रही है। अब पेरिस में सभी रेस्टोरेंट्स और बार को बंद करने का फैसला किया गया है। हालांकि, इसके लिए रविवार तक इंतजार किया जाएगा। अगर संक्रमण की दर में गिरावट नहीं आती तो मैक्सिमम अलर्ट लेवल घोषित करते हुए, यहां सभी गैर जरूरी दुकानें और मॉल भी बंद किए जाएंगे।

यह जानकारी फ्रांस के हेल्थ मिनिस्टर ओलिवर वेरन ने दी। पिछले 24 घंटे में फ्रांस में कुल 13 हजार 970 मामले सामने आए। बुधवार को यहां 12 हजार से ज्यादा नए संक्रमित पाए गए थे।

सेंट्रल मैड्रिड के एक रेस्टोरेंट में मेज सैनिटाइज करता वेटर। मैड्रिड का स्थानीय प्रशासन पहले नए प्रतिबंधों का विरोध कर रहा था। लेकिन, शुक्रवार को वह इनके लिए तैयार हो गया। (फाइल फोटो)

इटली: यहां भी हालात बिगड़े

अप्रैल के बाद इटली में पहली बार एक दिन में 2 हजार से ज्यादा मामले सामने आए। गुरुवार को यहां कुल 2 हजार 548 लोग पॉजिटिव पाए गए। इस बीच, सरकार ने कहा है कि हालात को देखते हुए स्टेट ऑफ इमरजेंसी यानी राष्ट्रीय आपातकाल जनवरी तक बढ़ाया जा रहा है।

प्रधानमंत्री गिसेप कोन्टे ने कहा- हम संसद में प्रस्ताव लाने जा रहे हैं। हालात बहुत बेहतर नहीं हैं, इसलिए आपातकाल बनाए रखने और इसे बढ़ाने के अलावा फिलहाल सरकार के पास कोई और रास्ता नहीं है। और ये स्थिति पूरे यूरोप के सामने है।

रोम के एक टूरिस्ट प्लेस के बाहर मौजूद लोग। इटली सरकार ने महामारी के मद्देनजर राष्ट्रीय आपातकाल जनवरी तक बढ़ाने पर फैसला किया है। (फाइल)

इजराइल: विरोध भी मुश्किल

इजराइल में पिछले कुछ दिनों से लोग प्रतिबंधों का विरोध कर रहे हैं। इनका कहना है कि सरकार कोरोनावायरस की रोकथाम के नाम पर मनमाने प्रतिबंध लगा रही है। प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से इस्तीफे की मांग की जा रही है। लेकिन, सरकार ने भी सख्त रुख अपना लिया है। संसद में एक कानून पास किया गया है। इसके तहत अब विरोध प्रदर्शन गैरकानूनी होंगे और ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया जा सकेगा।

नए कानून के तहत लोग एक किलोमीटर से ज्यादा की यात्रा भी नहीं कर सकेंगे। इसके अलावा 20 से ज्यादा लोगों के एक जगह जुटने पर पाबंदी लगा दी गई है। सरकार का कहना है कि वैक्सीन अब तक नहीं आई है और संक्रमण की दूसरी लहर का खतरा है। लिहाजा, सख्ती जरूरी है।

स्पेन: मैड्रिड लॉकडाउन की ओर

स्पेन की राजधानी मैड्रिड में सरकार ने कुछ हॉट स्पॉट्स की पहचान की है। सरकार का कहना है कि यहां लॉकडाउन लगाए बिना संक्रमण रोकना आसान नहीं है। पहले, स्थानीय प्रशासन और लोग केंद्र के इस फैसले का विरोध कर रहे थे। लेकिन, सरकार के सख्त रुख को देखते हुए वे अब प्रतिबंधों का सामना करने तैयार हो गए हैं।

परेशानी की बात यह है कि दो हफ्ते में यहां एक लाख 33 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं और सरकार की फिक्र का सबब भी यही आंकड़ा है। हेल्थ मिनिस्टर साल्वाडोर इले ने कहा- मैड्रिड की हेल्थ ही स्पेन की हेल्थ भी है। हमने नियमों की नई सूची तैयार कर ली है और इसे जल्द लागू करेंगे। मैड्रिड में 9 उपनगरीय इलाके हैं। यहां करीब 30 लाख लोग रहते हैं। फिलहाल, बाहर से आने वालों पर बैन लगाया गया है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शुक्रवार को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *