IPL में रॉयल्स की चेन्नई के खिलाफ दूसरी सबसे बड़ी जीत, सैमसन और तेवतिया जीत के हीरो; सीएसके के खिलाफ 9वीं जीत


आईपीएल के 13वें सीजन के चौथे मैच में राजस्थान रॉयल्स (आरआर) ने चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) को 16 रन से हरा दिया। यूएई के शारजाह में खेले गए मैच में रॉयल्स ने 217 रन का टारगेट दिया था। इसके जवाब में चेन्नई 6 विकेट गंवाकर 200 रन ही बना सकी। आईपीएल में रॉयल्स की चेन्नई के खिलाफ यह दूसरी सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले 28 मार्च 2010 को अहमदाबाद में 17 रन से शिकस्त दी थी। मैच का स्कोरकार्ड देखने के लिए यहां क्लिक करें…

रॉयल्स की जीत के हीरो संजू सैमसन और स्पिनर राहुल तेवतिया रहे। सैमसन ने 32 बॉल पर 74 रन की पारी खेली थी। वहीं, तेवतिया ने चेन्नई के तीन खिलाड़ियों को आउट किया।

तेवतिया के 3 विकेट रहे टर्निंग पॉइंट
लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई को शेन वॉट्सन (33) और मुरली विजय (21) ने मजबूत शुरुआत दी, लेकिन 7वें ओवर में खेल बिगड़ गया। स्पिनर राहुल तेवतिया ने अपने पहले ओवर में वॉट्सन को आउट किया। फिर दूसरे ओवर की आखिरी दो बॉल पर सैम करन (17) और रितुराज गायकवाड़ को बिना खाता खोले आउट कर मैच पलट दिया।

यूएई में आईपीएल का सबसे बड़ा टारगेट
रॉयल्स ने 7 विकेट गंवाकर 216 रन बनाए थे, जो यूएई में आईपीएल का सबसे बड़ा स्कोर है। इससे पहले 18 अप्रैल 2014 को किंग्स इलेवन पंजाब ने चेन्नई के खिलाफ ही 206 रन बनाए थे। रॉयल्स के कप्तान स्टीव स्मिथ ने 69 रन की पारी खेली। स्मिथ ने लीग की 9वीं और संजू सैमसन ने अपनी 11वीं फिफ्टी लगाई। सैमसन 19 बॉल पर फिफ्टी लगाने वाले 8वें प्लेयर भी बने।

पहली पारी का आखिरी ओवर भी टर्निंग पॉइंट रहा, आर्चर ने 27 रन बनाए थे

आखिर में 9वें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए जोफ्रा आर्चर ने 8 बॉल पर 27 रन की धमाकेदार पारी खेली। उन्होंने पारी और लुंगी एनगिडी के आखिरी ओवर में 30 रन लिए। इसमें आर्चर ने 4 छक्के लगाए। यह भी मैच का टर्निंग पॉइंट रहा। इन पारी की बदौलत रॉयल्स ने 7 विकेट गंवाकर 216 रन बनाए। यदि आखिरी ओवर इतना महंगा नहीं होता, तो मैच का नतीजा कुछ और हो सकता था। चेन्नई के लिए सैम करन ने 3 विकेट लिए, जबकि दीपक चाहर, एनगिडी और पीयूष चावला को 1-1 विकेट मिला।

धोनी ने फील्ड पर आपा खोया और फील्ड अंपायर से बहस करने लगे।

मैच में एक समय धोनी फिर अपना आपा खोते हुए अंपायर से बहस करते नजर आए। पहली पारी में 18वें ओवर की 5वीं बॉल बल्लेबाज टॉम करन के बैट से लगकर विकेटकीपर धोनी के हाथों में पहुंची थी। धोनी की अपील पर सी शमशुद्दीन अंपायर ने करन को कैच आउट करार दिया। करन को शक हुआ कि धोनी ने सही से कैच नहीं लिया है, लेकिन टीम के पास डीआरएस के मौके पहले ही खत्म हो चुके थे। ऐसे में ऐसे में करन ने अंपायर से जाकर बात की।

इसके बाद शमशुद्दीन ने लेग अंपायर विनीत कुलकर्णी से बात की, लेकिन धोनी ने कैच सही से पकड़ा या नहीं, यह क्लियर नहीं हो सका। तब थर्ड अंपायर को यह मामला रेफर किया गया। टीवी पर देखने से पता चला कि धोनी ने जमीन से बॉल लगने के बाद कैच किया था। ऐसे में करन को नॉटआउट दिया गया। इस पर धोनी फील्ड अंपायर के पास गए और उनसे बहस करते नजर आए।

सस्ते और महंगे प्लेयर्स का परफॉर्मेंस
सीएसके में कप्तान धोनी 15 करोड़ रुपए कीमत के साथ सबसे महंगे खिलाड़ी रहे। उन्होंने 7वें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 17 बॉल पर 29 रन बनाए, लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके। दूसरे नंबर पर केदार जाधव (7.80 करोड़ रुपए) रहे। वे सिर्फ 22 रन ही बना सके। टीम में 20 लाख रुपए कीमत के साथ रितुराज सबसे सस्ते प्लेयर रहे, लेकिन वे एक बॉल खेलकर बगैर खाता खोले पवेलियन लौट गए।

वहीं, रॉयल्स टीम में स्मिथ 12.50 करोड़ और संजू सैमसन 8 करोड़ रुपए कीमत के साथ सबसे महंगे प्लेयर रहे। इन दोनों ने ही मैच जिताऊ पारी खेली। सैमसन ने 74 और स्मिथ ने 69 रन बनाए। टीम में श्रेयस गोपाल और रैयान पराग दोनों 20-20 लाख रुपए कीमत के साथ सबसे सस्ते प्लेयर खेले। गोपाल ने 4 ओवर में 38 रन देकर 1 विकेट लिया। जबकि पराग 6 ही रन बना सके।

सिर में चोट के बाद स्मिथ की वापसी

वहीं, रॉयल्स का इस सीजन में यह पहला मैच था। इसमें टीम अपने रेग्युलर कप्तान स्टीव स्मिथ के साथ उतरी। इसी महीने स्मिथ प्रैक्टिस के दौरान सिर में बॉल लगने से चोटिल हो गए थे। इस कारण वे इंग्लैंड में वनडे सीरीज भी नहीं खेल सके थे।

बटलर और स्टोक्स मैच में नहीं खेले
राजस्थान रॉयल्स के की-प्लेयर इंग्लैंड के बेन स्टोक्स और जोस बटलर पहले मैच में नहीं खेले। बटलर बायो-सिक्योर माहौल से हटकर परिवार के साथ यूएई पहुंचे थे। इस कारण वे 6 दिन क्वारैंटाइन में बिताएंगे। वहीं, स्टोक्स के पिता को ब्रेन कैंसर है। इस कारण वे उनका इलाज कराने के लिए क्राइस्टचर्च में हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने आखिरी ओवर में तीन छक्के लगाए, लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *